TIME PASS

Entertenment & Knowledge & Time Pass.NEWS

Tuesday, May 1, 2018

सरकार ने विभिन्न ऑनलाईन सेवा शुरु की है

No comments :
सभी ग्रुप में भेजें और
मैसेज सुरक्षित भी रखें ...
किसी को भी कभी भी
जरूरत पड़ सकती है
और शेयर जरूर करें
सरकार ने विभिन्न ऑनलाईन सेवा शुरु की है
जिसे आप http://www.india.gov.in/howdo
पेज पर जाकर अपने जरूरत की केटेगरी में चुन सकते हैं, उदाहरण के लिए कुछ इस प्रकार हैं :-
* प्राप्त करे:
1. जन्म प्रमाण
http://www.india.gov.in/howdo/howdoi.php?service=1
2. जाति प्रमाण
http://www.india.gov.in/howdo/howdoi.php?service=4
3. टोली प्रमाणपत्र
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
4. अधिवास प्रमाणपत्र
http://www.india.gov.in/howdo/howdoi.php?service=5
5. वाहन चालक प्रमाणपत्र
http://www.india.gov.in/howdo/howdoi.php?service=6
6. विवाह प्रमाणपत्र
http://www.india.gov.in/howdo/howdoi.php?service=3
7. मृत्यु प्रमाणपत्र
http://www.india.gov.in/howdo/howdoi.php?service=2
अर्ज करें :
1. पॅन कार्ड
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
2. Tan कार्ड
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
3. राशन कार्ड
http://www.india.gov.in/howdo/howdoi.php?service=7
4. पासपोर्ट
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
5. मतदाता सूची में नामांकन
http://www.india.gov.in/howdo/howdoi.php?service=10
रजिस्ट्रेशन:
1. जमीन / मालमत्ता
http://www.india.gov.in/howdo/howdoi.php?service=9
2. वाहन
http://www.india.gov.in/howdo/howdoi.php?service=13
3. राज्य रोजगार एक्सचेंज
http://www.india.gov.in/howdo/howdoi.php?service=12
4. नियोक्ता
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
5. कंपनी
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
6. .IN डोमेन
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
7. GOV.IN डोमेन
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
चेक / ट्रॅक:
1. केंद्र सरकार गृहनिर्माण प्रतीक्षा सूची स्थिति
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
2. चोरी गये वाहन की स्थिति
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
3. भूमि अभिलेख
http://www.india.gov.in/landrecords/index.php
4. भारतीय न्यायालय
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
5. न्यायालयों के आदेश (JUDIS)
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
6. दैनिक कोर्ट ऑर्डर / प्रकरण स्थिति
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
7. भारतीय संसद नियम
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
8. परीक्षा परिणाम
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
9. स्पीड पोस्ट स्थिति
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
10. ऑनलाइन खेती बाजार भाव
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
पुस्तक / चित्र / लॉज:
1. ऑनलाईन रेल्वे टिकट
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
2. ऑनलाईन टिकट
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
3. आयकर
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
4. केंद्रीय दक्षता आयोग शिकायत (CVC हा)
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
योगदान:
1. प्रधानमंत्री सहयोग निधि
http://www.india.gov.in/howdo/otherservice_details.php…
एनी :

धिष्ठर को पूर्ण आभास था,कि कलयुग में क्या होगा ?

No comments :
युधिष्ठर को पूर्ण आभास था,
कि कलयुग में क्या होगा ?

पूरा अवश्य पढें।
अच्छा लगेगा।
पाण्डवों का अज्ञातवाश समाप्त होने में कुछ समय शेष रह गया था।
पाँचो पाण्डव एवं द्रोपदी जंगल मे छूपने का स्थान
ढूंढ रहे थे।
उधर शनिदेव की आकाश मंडल से पाण्डवों पर नजर पड़ी शनिदेव के मन विचार आया कि इन 5 में बुद्धिमान कौन है परीक्षा ली जाय।
शनिदेव ने एक माया का महल बनाया कई योजन दूरी में उस महल के चार कोने थे, पूरब, पश्चिम, उतर, दक्षिण।
अचानक भीम की नजर महल पर पड़ी
और वो आकर्षित हो गया ,
भीम, यधिष्ठिर से बोला- भैया मुझे महल देखना है भाई ने कहा जाओ ।
भीम महल के द्वार पर पहुंचा वहाँ शनिदेव दरबान के रूप में खड़े थे,
भीम बोला- मुझे महल देखना है!
शनिदेव ने कहा- महल की कुछ शर्त है ।
1- शर्त महल में चार कोने हैं आप एक ही कोना देख सकते हैं।
2-शर्त महल में जो देखोगे उसकी सार सहित व्याख्या करोगे।
3-शर्त अगर व्याख्या नहीं कर सके तो कैद कर लिए जाओगे।
भीम ने कहा- मैं स्वीकार करता हूँ ऐसा ही होगा ।
और वह महल के पूर्व छोर की ओर गया ।
वहां जाकर उसने अद्भूत पशु पक्षी और फूलों एवं फलों से लदे वृक्षों का नजारा देखा,
आगे जाकर देखता है कि तीन कुंए है अगल-बगल में छोटे कुंए और बीच में एक बडा कुआ।
बीच वाला बड़े कुंए में पानी का उफान आता है और दोनों छोटे खाली कुओं को पानी से भर देता है। फिर कुछ देर बाद दोनों छोटे कुओं में उफान आता है तो खाली पड़े बड़े कुंए का पानी आधा रह जाता है इस क्रिया को भीम कई बार देखता है पर समझ नहीं पाता और लौटकर दरबान के पास आता है।
दरबान - क्या देखा आपने ?
भीम- महाशय मैंने पेड़ पौधे पशु पक्षी देखा वो मैंने पहले कभी नहीं देखा था जो अजीब थे। एक बात समझ में नहीं आई छोटे कुंए पानी से भर जाते हैं बड़ा क्यों नहीं भर पाता ये समझ में नहीं आया।
दरबान बोला आप शर्त के अनुसार बंदी हो गये हैं और बंदी घर में बैठा दिया।
अर्जुन आया बोला- मुझे महल देखना है, दरबान ने शर्त बता दी और अर्जुन पश्चिम वाले छोर की तरफ चला गया।

राजीव गांधी की कोंग्रेस द्वारा की गई ऐक घिलौनी साजिश

No comments :
राजीव गांधी की कोंग्रेस द्वारा की गई ऐक घिलौनी साजिश

1985-86 में LTTE यानी लिट्टे आतंकी संघटन ने श्रीलंका को परेसान कर रखा था तब तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीवगांधी ने बिना मांगे श्रीलंका को सैन्य सहायता भेजी थी लगभग पन्द्रह हजार भारतीय फौजी श्रीलंका भेजे गये और सब के सब सरदार थे
उन सैनिकों को गृहमंत्रालय से सीधा आदेश मिलने की प्रतीक्षा करने को कहा गया और भारत से उन्हें जो राइफल मैगजीन दी गई उन्हें यहीं पर खाली कर लिया गया था। केवल कुछ ऑफिसर को लोडेड रिवाल्वर दी गई  साथ ही सख्त आदेश था कि उन्हें किसी भी स्तिथि में श्रीलंका की जमीन पर गोली नही चलानी हैं।

जब आतंकी संघटन लिट्टे को पता चला कि भारत से सेना उनपर हमला करने आई हैं तब लिट्टे के आतंकियों ने भारतीय सैनिकों पर गोलियां बरसाई ..बदले में भारतीय सैनिक खाली राइफलों के पीछे खुद का खून बहाने को मजबूर हो गये
गृहमंत्रालय को लाख कहने पर भी गोली चलाने का आदेश नही मिला न हमारे सैनिकों को गोलियां मिली। निहथे तिल तिल कर शहीद होने को मजबूर थे हमारे जवान ओर उस चार महीनों में हमारे 4 हजार से अधिक सैनिक शहीद हुए जो भारत के इतिहास की सबसे घृणात्मक घटना हैं
लिट्टे के आतंकी हमारे सैनिकों को दूर से पहचान लेते क्योंकि सब सैनिक सरदार थे और वे पगड़ी पहनते थे यही कारण था कि वे भीड़ में पहचान लिये जाते थे
*राजीवगांधी ने इंदिरा गांधी की हत्या की घटना का बदला निर्दोष बेकुसूर सरदार फौजियों को निहथा करके लिट्टे के सामने फेंककर लिया*
राजीवगांधी अंत तक सरदारों से घृणा करते रहे
*ऑपरेशन खत्म करके हमारे जवान जब जहाज से भारतीय समुद्र तट पर वापिस आकर उतरे तो सारे जवान फूट फूट कर रोने लगे थे*
उनमें से आधे से ज्यादा वापिस ड्यूटी पर ही नही गये बचे कई जवान विक्षिप्त हो गये थे
*कांग्रेस के पाप अनगिनत है.*
*सावधान देश वासियों अब बचे दिनों में कांग्रेस गन्दी राजनीति जरूर करेगी*
**
         Conspiracy plot by Rajiv Gandhi's Congress

In 1985-86, the LTTE, ie the LTTE terror organization had paraded Sri Lanka, then the then Prime Minister Rajiv Gandhi sent military aid to Sri Lanka without asking, about fifteen thousand Indian soldiers were sent to Sri Lanka and all of them were princes
Those soldiers were asked to wait for direct orders from the Home Ministry and the rifle magazine they were given from India had been evacuated here. Only a few officers were given loaded revolvers as well as strict orders that they should not be shot on Sri Lankan ground in any situation.
When the militant organization LTTE came to know that the army from India came to attack them, the LTTE militants ransacked Indian soldiers. In exchange, Indian soldiers were forced to bleed themselves behind empty rifles.
Even the Ministry of Home Affairs did not get the order to shoot lakhs but even our soldiers got the bullets. Our soldiers were forced to die, and our martyred soldiers and more than 4000 martyrs were martyred in the four months, which is the most horrific event in India's history.

जिस सम्राट का राज चिन्ह अशोक चक्र भारतदेश अपने झंडे में लगता है...

No comments :
कभी आपने सोचा कि.......
१. जिस सम्राट के नाम के साथ संसार भर के
इतिहासकार महान” शब्द लगाते हैं......
२. जिस सम्राट का राज चिन्ह अशोक चक्र भारत
देश अपने झंडे में लगता है.....
३.जिस सम्राट का राज चिन्ह चारमुखी शेर
को भारत देश
राष्ट्रीय प्रतीक मानकर सरकार चलाती है......
४. जिस देश में सेना का सबसे बड़ा युद्ध
सम्मान सम्राट अशोक के नाम पर अशोक चक्र
दिया जाता है.....
५. जिस सम्राट से पहले या बाद में कभी कोई
ऐसा राजा या सम्राट नहीं हुआ, जिसने अखंड
भारत (आज का नेपाल, बांग्लादेश, पूरा भारत,
पाकिस्तान और अफगानिस्तान) जितने बड़े
भूभाग पर एक छत्रीय राज किया हो......
६. जिस सम्राट के शासन काल
को विश्व के बुद्धिजीवी और इतिहासकार
भारतीय इतिहासका सबसे स्वर्णिम काल मानते
हैं.....
७.जिस सम्राट के शासन काल में भारत विश्व गुरु
था, सोने
की चिड़िया था, जनता खुशहाल और भेदभाव
रहित
थी......
८. जिस सम्राट के शासन काल
जी टी रोड जैसे कई हाईवे रोड बने, पूरे रोड पर
पेड़ लगाये गए, सराये बनायीं गईं इंसान तो इंसान
जानवरों के लिए
भी प्रथम बार हॉस्पिटल खोले गए,
जानवरों को मारना बंद कर
दिया गया.....
ऐसे महन सम्राट अशोक कि जयंती उनके
अपने देश भारत में
क्यों नहीं मनायी जाती, न ही कोई
छुट्टी घोषित कि गई है??
अफ़सोस जिन लोगों को ये
जयंती मनानी चाहिए, वो लोग अपना इतिहास
ही नहीं जानते और जो जानते हैं
वो मानना नहीं चाहते ।
1. जो जीता वही चंद्रगुप्त ना होकर…
जो जीता वही सिकन्दर “कैसे” हो गया… ???
(जबकि ये बात सभी जानते हैं कि…. सिकंदर
की सेना ने चन्द्रगुप्त मौर्य के प्रभाव को देखते
हुये ही लड़ने से मना कर दिया था.. बहुत
ही बुरी तरह मनोबल टूट गया था…. जिस
कारण , सिकंदर ने मित्रता के तौर पर अपने
सेनापति सेल्युकश कि बेटी की शादी चन्द्रगुप्त से
की थी)
2. महाराणा प्रताप “”महान””” ना होकर………
अकबर “””महान””” कैसे हो गया…???
जबकि, अकबर अपने हरम में
हजारों लड़कियों को रखैल के तौर पर
रखता था…. यहाँ तक कि उसने
अपनी बेटियो और बहनो की शादी तक पर
प्रतिबँध लगा दिया था जबकि..
महाराणा प्रताप ने अकेले दम पर उस अकबर के
लाखों की सेना को घुटनों पर
ला दिया था)
3. सवाई जय सिंह को “””महान वास्तुप्रिय”””
राजा ना कहकर शाहजहाँ को यह
उपाधि किस आधार मिली …… ???
जबकि… साक्ष्य बताते हैं कि…. जयपुर के
हवा महल और कई किले ….
महाराजा जय सिंह ने ही बनवाया था)
4. जो स्थान महान मराठा क्षत्रिय वीर
शिवाजी को मिलना चाहिये वो………. क्रूर
और आतंकी औरंगजेब को क्यों और कैसे मिल
गया ..????
5. स्वामी विवेकानंद और आचार्य चाणक्य
की जगह… ….. गांधी को महात्मा बोलकर ….
हिंदुस्तान पर क्यों थोप दिया गया…??????
6. तेजोमहालय- ताजमहल……… ..लालकोट-
लाल किला……….. फतेहपुर सीकरी का देव
महल- बुलन्द दरवाजा…….. एवं सुप्रसिद्ध
गणितज्ञ वराह मिहिर की
मिहिरावली(महरौली) स्थित वेधशाला-
कुतुबमीनार….. ……… क्यों और कैसे
हो गया….?????

अच्छे दिन कब आयेंगे !

No comments :
फिर विचार करना
दिवार पर पेशाब करता व्यक्ति पूछता है ,अच्छे दिन कब आयेंगे !
*बिजली चोरी करता व्यक्ति पूछता है, अच्छे दिन कब आयेंगे*
*यहाँ-वहाँ कचरा फैंकता  व्यक्ति पूछता है, अच्छे दिन कब आयेंगे*
*कामचोर सरकारी कर्मचारी पूछता है, अच्छे दिन कब आयेंगे*
*टेक्स चोरी करता व्यक्ति पूछता है, अच्छे दिन कब आयेंगे*
*देश से गद्दारी करता व्यक्ति पूछता है, अच्छे दिन कब आयेंगे*
*नोकरी पर देरी से व जल्दी घर दौड़ता कर्मचारी पूछता है, अच्छे_ दिन कब आयेंगे*
 ​लड़कियों से छेड़खानी करता व्यक्ति पूछता है, अच्छे दिन कब आयेंगे​
*राष्ट्रगान के समय बातें करते स्कूलों के कुछ लोग पूछते है, अच्छे दिन कब आयेंगे*
*स्कूल में बच्चों को न भेजने वाले लोग पूछते हैं, अच्छे दिन कब आयेंगे*
*कसाई जैसे कमीशनखोर डाक्टर पूछता है अच्छे दिन कब आयेंगे*
*सड़क पर रेड सिगनल तोड़ते लोग पूछते, अच्छे दिन कब आयेंगे*
*किताबों से दूर भागते विद्यार्थी पूछते हैं, अच्छे दिन कब आयेंगे*
*कारखानों में हराम खोरी करते लोग पूछते हैं, अच्छे दिन कब आयेंगे*
यदि खुद नहीं बदल सकते

समय और स्थिति कभी भी बदल सकते है

No comments :
चिड़िय जब जीवित रहती है
तब वो किड़े-मकोड़ों को खाती है
और चिड़िया जब मर जाती है
तब किड़े-मकोड़े उसको खा जाते है
इसलिए इस बात का ध्यान रखो की समय और स्थिति कभी भी बदल सकते है
इसलिए कभी किसी का अपमान मत करो
कभी किसी को कम मत आंको।
तुम शक्तिशाली हो सकते हो पर समय तुमसे भी शक्तिशाली है।
एक पेड़ से लाखो माचिस की तिलियाँ बनाई जा सकती है।
पर एक माचिस की तिली से लाखो पेड़ भी जल सकते है।
कोई चाहे कितना भी महान क्यों ना हो जाए, पर कुदरत कभी भी किसी को महान  बनने का मौका नहीं देती।
कंठ दिया कोयल को, तो रूप छीन लिया ।
रूप दिया मोर को, तो ईच्छा छीन ली ।
दी ईच्छा इन्सान को, तो संतोष छीन लिया ।
दिया संतोष संत को, तो संसार छीन लिया।
☝मत करना कभी भी ग़ुरूर अपने आप पर 'ऐ इंसान'
भगवान ने तेरे और मेरे जैसे कितनो को मिट्टी से बना कर, मिट्टी में मिला दिए ।
☝ इंसान दुनिया में तीन चीज़ो के लिए मेहनत करता है

प्रणाम का महत्व ।

No comments :
*महाभारत का युद्ध चल रहा था -*
     *एक दिन दुर्योधन के व्यंग्य से आहत होकर "भीष्म पितामह" घोषणा कर देते हैं कि -*
       *"मैं कल पांडवों का वध कर दूँगा"*
        *उनकी घोषणा का पता चलते ही पांडवों के शिविर में बेचैनी बढ़ गई -*
    *भीष्म की क्षमताओं के बारे में सभी को पता था इसलिए सभी किसी अनिष्ट की आशंका से परेशान हो गए|*        *तब -*
  *श्रीकृष्ण ने द्रौपदी से कहा अभी मेरे साथ चलो -*
   *श्रीकृष्ण द्रौपदी को लेकर सीधे भीष्म पितामह के शिविर में पहुँच गए -*
  *शिविर के बाहर खड़े होकर उन्होंने द्रोपदी से कहा कि - अन्दर जाकर पितामह को प्रणाम करो -*
      *द्रौपदी ने अन्दर जाकर पितामह भीष्म को प्रणाम किया तो उन्होंने* -
    *"अखंड सौभाग्यवती भव" का आशीर्वाद दे दिया , फिर उन्होंने द्रोपदी से पूछा कि !!*
   *"वत्स, तुम इतनी रात में अकेली यहाँ कैसे आई हो, क्या तुमको श्रीकृष्ण यहाँ लेकर आये है" ?*
  *तब द्रोपदी ने कहा कि -*
     *"हां और वे कक्ष के बाहर खड़े हैं" तब भीष्म भी कक्ष के बाहर आ गए और दोनों ने एक दूसरे से प्रणाम किया -*
*भीष्म ने कहा -*

Popular Posts