TIME PASS

Entertenment & Knowledge & Time Pass.NEWS

Friday, April 20, 2018

भारत में भी इटली वाली अपना आखिरी और निर्णायक मैच(चुनाव)खेल रही हैं

No comments :
2019 के लोकसभा चुनाव के ... काबिलेगौर समीक्षा...
इटैलियन रणनीति और आज के काग्रेंसी राजनीति की :
....
आपको याद होगा सभी को जब 2006 में फीफा वर्ल्ड कप के फाइनल में फ्रांस और इटली आमने-सामने हुए थे।
  फ्रांस के लिए अपना आखिरी मैच खेल रहे "जिनेदिन जिदान" ने सातवें मिनट में गोल करके अपनी टीम को बढ़त दिला दी। 19वें मिनट में "मार्को मटेराजी" ने गोल करके इटली को 1-1 की बराबरी पर ला दिया। ये स्कोर 90 मिनट की समाप्ति तक जस का तस रहा। मैच जब एक्स्ट्रा टाइम में गया तो गोल करने के लिए दोनो टीमे जीतोड़ कोशिश मे लग गयी।
इटली की टीम समझ गई थी कि यदि नियमानुसार खेल चलता रहा तो वे ये मुकाबला कभी नहीं जीत पायेगें,
क्योकि सामने वाली टीम मे #जिनेदिन_जिदान जैसा अनुभवी खिलाड़ी है जो फ्रांस को 1998 के वर्ल्ड कप मे भी विजेता बना चुका था।
तब इटली की टीम ने अपनी रणनीति बदली और जिदान को टारगेट करने की योजना बनाई। निर्णायक गोल करने मे जुटे जिदान और मटेराजी के बीच अचानक कहासुनी हुई। इसके बाद मटेराजी ने जिदान की टीशर्ट खींची। थोड़ी देर बाद जिदान ने अपने सिर से हेडबट मारकर मटेराजी की छाती पर जोरदार प्रहार किया और मटेराजी नीचे गिर पड़े।
हेडबट करने की वजह से जिदान को रेड कार्ड दिखाया गया था। इसके साथ ही फ्रांस के इस महान खिलाड़ी के अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉल का सफर थम गया।
अतिरिक्त समय में भी मुकाबला बराबर रहने पर मैच का निर्णय करने के लिये पेनल्टी शूट आउट का सहारा लिया गया, जिसमे फ्रांस की टीम इटली से 3-5 से मुकाबला हार गयी।
जिदान ने इस बात की जानकारी कभी नहीं दी कि आखिर उस दिन मटेराजी ने उन्हें कहा क्या था। लेकिन मटेराजी ने कई बरसो बाद खुद ही बताया कि उन्होंने उस दिन जिदान की बहन के खिलाफ कमेंट किया था। मटेराजी ने बताया, ‘जब मैंने उनकी टीशर्ट खींची तो जिदान ने कहा अगर तुम्हे मेरी टीशर्ट चाहिए तो मैच के बाद मैं तुम्हे दे दूंगा।' लेकिन मैंने जिदान से कहा कि मैं इसके बजाय उस *वेश्या को पसंद करूंगा जो कि तुम्हारी बहन है।* मटेराजी के इस कमेंट के बाद जिदान ने अपने सिर से उनके सीने पर जोरदार प्रहार किया था। जिदान को मेच से बाहर कर दिया गया और आगे का सारा मुकाबला फ्रांस ने जिदान के बिना खेला। परिणाम यह निकला कि फ्रांस वर्ल्ड कप हार गया।
फ्रांस की हार ने दुनिया को बता दिया कि कई खेल मैदान के बाहर भी खेले जाते है और घाघ, शातिर, धूर्त खिलाड़ी जानते है कि मेच कैसे जीते जाते है। हर मेच केवल नियमानुसार खेलकर नही जीता जाता। इटली के घाघ खिलाड़ी इस मामले मे माहिर थे। फ्रांसीसी खिलाड़ी नादान थे वे केवल अपने खेल के दम पर मेच जीतना चाहते थे क्योकि वे #रूसो' जैसे सरल सुबोध विचारक की धरती से थे जबकि इटली के खिलाड़ी हर तरह का कुटिल खेल खेलने मे पारंगत थे क्योकि वे #मेकियावेली' की जन्मभूमि से आये थे जो जीत के लिये किसी नैतिकता के बंधन को नही मानते।
इटेलियन लोगो की रगो में सदियो बाद भी 'मेकियावेली' की कुटिलता दौड़ रही है और वे जीत के लिये हर संभव प्रयास करते है चाहे उसके लिये उन्हे कितना ही नियम विरुद्ध क्यो न खेलना पड़े और वो खेल चाहे मैदान के भीतर हो या मैदान के बाहर।
और भारत में भी इटली वाली अपना आखिरी और निर्णायक मैच(चुनाव)खेल रही हैं और वो इसे जितने के लिये सब कुछ करेंगी। जो उसके इटालियन खून में भरा पड़ा है।
अभी तो बहुत से अभूतपूर्व दंगे फसाद,हिंसा का तांडव और नकारात्मक राजनीति का दौर बाकी है मेरे दोस्तों।
      Regarding the 2019 Lok Sabha election ... Kabilegoor review ...
Italian strategy and today's college politics:

....
You will remember everyone when France and Italy were in front of the FIFA World Cup final in 2006.
  "Zinedine Zidane" playing his last match for France gave his team a lead in the seventh minute. In the 19th minute "Marco Materazzi" scored the goal to give Italy a 1-1 draw. These scores are up to 90 minutes. When the match went in extra time, the two teams were trying to win the goal.
The Italian team understood that if the game runs according to the rules, they will never win this match,
 Because there is an experienced player like #Jinidin Zidane in the front team, who had also made France a winner in the 1998 World Cup.
Then the Italian team changed their strategy and planned to target Zidane. Zidane and Mataraji got involved in making a decisive goal. After this, Materazzi pulled Zidane's T-shirt. After a while, Zidan hit his head with a headbat and hit Materazzi's chest and Materazzi fell down.
Due to headbutt, Zidane was shown as a red card. Along with this the great French player's international football stalled.
Penalty shootout was used to decide the match on equal footing in extra time, in which France's team lost the match to Italy 3-5.
Zidan never gave information about what Materazzi had told him on that day. But Materazzi himself said several days later that he had made a statement against Zidan's sister on that day. Materazzi said, "When I pulled his T-shirt, Zidan said that if you want my T-shirt then I will give it to you after the match." But I told Zidane that I would rather prefer that prostitute, which is your sister. * After this comment from Materazzi, Zidan struck his chest with his head severely. Zidane was ousted from the match and all the fight against France played without Zidane. The result was that France lost the World Cup.
France's defeat has told the world that many sports are played outside the field and consummate, vicious, sly players know how to win a match. Not every match can be won by playing only according to rules. The consummate players of Italy were special in this case. The French players were Nadan, they only wanted to win a match on their own game because they were from the simplest subhas thinker like # Rousseau, while Italy's players were capable to play all sorts of crooked games because they came from #Miciaveli's native place. Who did not accept the bond of any ethics for victory.
Even after centuries of Italian people, the machismo of 'Machiavelli' is running and they make every possible effort to win, no matter how much they have to play against them and whether the game is within the field or outside of the ground .
And in India, Barbali is playing his last and decisive match (elections) in Italy and he will do everything for it. Who is lying in his Italian blood.
There is still a lot of unprecedented riots, violent extremism and negative politics. My friends

देश के 90 प्रतिशत न्यूज चैनल विदेशो से पालित-पोषित है, और राष्ट्रघाती है

No comments :
देश के 90 प्रतिशत न्यूज चैनल विदेशो से पालित-पोषित है, और राष्ट्रघाती है
सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता सुब्रमन्यम स्वामी की अपील पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को नोटिस जारी किया था,
सुब्रमन्यम स्वामी ने कहा था कि भारत के मीडिया चैनल, अखबारों के मालिक भारतीय ही होने चाहिए!!
ज्ञात हो कि भारत के अधिकतर समाचार चैनलों, अखबारों के मालिक साउदी अरब, इटली, अमेरिका, ब्रिटेन, व दुबई में रहते है !!
जिसकी वजह से मीडिया को सिर्फ इशारों पर नचाया जाता है !!
यदि इस पर सुप्रीम कोर्ट सही फैसला दे देता है तो...ABP, AAJTAK, NDTV ये सब बंद हो जाएँगे !
जब से ये बात सुनी है मीडिया में हडकंप मच गया है... वो बैचेन है, पर अफ़सोस इस बात का है की इसे ब्रेकिंग न्यूज़ में नहीं दिखा सकते !
इस लिंक को क्लिक कीजिए और देखिए ताजा घटना जम्मू के कठुआ में आसिफा कांड की असलियत...⤵️ ‌
1. पिछले दिनों फेस बुक से पता चला की IBN-7 के राजदीप सरदेसाई ने जनपथ, दिल्ली में 50 करोड़ का बंगला खरीदा है। राज दीप सरदेसाई की उम्र 48 साल है और अगर 50 करोड़ का बंगला खरीदा है तो और कितनी संपत्ति होगी उसके पास,इसका अंदाजा ही लगाया जा सकता है। .
2. दीपक चौरसिया को एक व्यक्ति ने चैनल पर ही पूछ लिया कि 50,000 रुपये की पगार पे
काम करने वाला दीपक चौरसिया 500 करोड़ का मालिक कैसे
बन गया ?
तो दीपक चौरसिया सकपका गया, कोई जवाब नही दिया और बहस का मुद्दा ही बदल दिया। दीपक चौरसिया की उम्र केवल 45 वर्ष है, इतनी सी उम्र में पत्रकार की नौकरी कर कोई इतना पैसा जमा कर
सकता है क्या ...? .
3. 'श' को 'स' बोलने वाला राजीव
शुक्ला भी आपको याद होगा। कुछ अरसा ही बीता है जब ये ज़नाब नेताओं के interview लेने वाले एक free lancer पत्रकार थे।
परन्तु आज इन श्रीमान जी की पत्नी एक News Channel की मालिक हैं। जुगाड़ देखिये की साहब बिना कोई जनसेवा किये ही राज्यसभा सांसद हैं, काग्रेस शासन में केद्रीय मंत्री भी बन गए और BCCI के दबंग सदस्य हैं।
सिवाय पैसे और राजनीति जुगाड़बाज़ी के इनकी न कोई following है ओर न कोई काबिलियत। .
4. शाइज़ा इल्मी ने अपनी संपत्ति चुनाव आयोग के सामने 30 करोड़ घोषित की है।
इल्मी की उम्र केवल 43 वर्ष है और वो भी स्टार न्यूज़ में पत्रकार के रूप में काफी लम्बे अर्से तक
जुडी रही है ...ये तो चंद लोग हैं।
इनके अलावा अनेको पत्रकार हैं जो वेतनभोगी थे और आज थोड़े से समय मैं ही अरबों के मालिक हैं। ये बातें पुख्ता करती हैं कि सभी पत्रकारों की सम्पत्तियों की जांच होनी चाहिए ...I
पता चलना चाहिए कि आखिर ये
पत्रकारिता कैसा धंधा है जिसमे लोग छोटी सी उम्र में लोग इतने
अमीर बन जाते हैं ??
अपनी सोच पर मीडिया को हावी न होने दे मित्रों...
क्योंकि ये अपनी नाकारात्मक और सेलेक्टिव खबरो से आपको निरंतर भ्रमित कर ...अवसाद ग्रस्त कर रहे है...!
आज देश के 90 प्रतिशत न्यूज चैनल विदेशो से पालित-पोषित है, और राष्ट्रघाती है, यह तथ्य मैंने अपने अथक प्रयास से जाना है.
आपने भी गौर किया होगा कि लोकसभा चुनाव २०१९ के मुहाने पर...इस मीडिया की बाजीगरी...नाकारात्मक और हैरतअंगेज होती जा रही है।
जय हिन्द ☀

ये सब नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद हुआ

No comments :

*भारती सिंह जो CISF की उच्च अधिकारी हैं, उन्होंने ये किस्सा सुनाया।*
*विषय था____ मोदी जी के आने के बाद सरकार के काम करने के तरीके में किस तरह का बदलाव आया है!*
*भारती CISF में उच्च पद पे नौकरी में रही हैं और लखनऊ, दिल्ली, जोधपुर और जम्मू Airport की security इंचार्ज रही हैं।*
*उन्होंने Prime Minister के तौर पे अटल जी का ज़माना भी देखा है और मनमोहन सिंह का भी....!*
*और अब मोदी जी का देख रही हैं।*
*उस जमाने में जब अटल जी लखनऊ के सांसद थे तो PM होते हुए जब लखनऊ आते तो Airport पर उतरते।*
*पूरा protocol होता.....*
*पूरा सरकारी अमला......*
*लाव लश्कर.......*
*बड़े तामझाम.........*
*इसके लिए catering की व्यवस्था वहीं airport का ही एक caterer करता था...।*
*उन दिनों वहाँ लखनऊ में अटल जी की एक visit पे caterer का बिल बन जाता था एक से डेढ़ लाख रु तक का।*

*Congress के जमाने में यदि सोनिया जी......*
*राहुल....... या PM आते तो बिल 10 लाख के ऊपर चला जाता था।*

*मोदी जबसे PM बने हैं....!*
*4 या 5 बार कश्मीर दौरा कर आये हैं....*
*जम्मू , श्रीनगर, कटरा और लेह लद्दाख आते जाते रहते हैं....।*
*एक बार जम्मू उतरे थे......*
*Caterer का बिल बना सिर्फ 3500 रुपए मात्र।*
*वो भी CISF और Air India ने pay किया क्योंकि उनके स्टाफ के लिए चाय नाश्ता आया था कैंटीन से।*
*मोदी जी जब भी ऐसी किसी visit पे जाते हैं तो transit में चाय अपने पैसे से पीते हैं......।*
*उनके साथ उनके अमले में जो लोग होते हैं वो भी चाय नाश्ता अपने पैसे से करते हैं।*
*इसके बदले नियमानुसार उन्हें on duty travel का TA, DA मिलता रहा है......!*

*भारती जी बताती हैं कि CISF में 22 साल नौकरी करने के दौरान उन्होंने PM के विदेश दौरों की तैयारियों को खुद देखा है।*
*PM का जहाज जब लोड होता था......*
*विदेश दौरों के लिए तो उसपे क्या क्या लादा जाता था.......*
*वो पूरा खोल कर लिखने लायक नहीं।*
*Private News Channels के पत्रकारों की फ़ौज जाती थी PM के साथ.......।*
*और न जाने क्या क्या ऐश अय्याशियाँ होतीं थीं......।*
*अब सिर्फ दूरदर्शन के 3 या 4 आदमी जाते हैं।*
*अब PM के दौरों में दारू की नदियां नहीं बहतीं।*
*सभी कर्मचारी अपने travelling allowance में से ही खर्चा करते हैं....*
*अब आप ही सोचिए.....,*
*ऐसे माहौल में मुफ्तखोरों और देश को लूटने वालों के अच्छे दिन कैसे आएँगे.....?*
*कुछ बातों पर तो सचमुच गर्व करने योग्य हैं।*
*जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे अपने ट्विटर पर मात्र 13 लोगों को फॉलो करते हैं उनमें से एक नरेंद्र मोदी हैं।*
*अमेरिका से मात्र 3 देश हॉटलाइन पर ट्रम्प से सीधे बात कर सकते हैं, उनमे से एक भारत भी है।*
*रूस के पुतिन से मात्र दो देश अमेरिका और भारत हॉटलाइन पर सीधे बात कर सकते हैं।*
*जबकि अन्य देशों को ट्रम्प और पुतिन से बात करने के लिए 10 दिन पूर्व स्वीकृति लेनी पड़ती है।*
*और ये सब नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद हुआ है.. आप स्वयं भारत की बढ़ती हैसियत का अंदाज़ा लगाइये।*
  *जय हिंद! जय भारत !!!*
ये न्यूज मीडिया वाले कभी भी नहीं बताएेंगे
फैला दो पूरे देश में यारो
ये भी एक देशभक्ती ही होगी
         
* Bharti Singh, who is a high official of CISF, told this story.
* The subject was _____ After the arrival of Modiji, how change has been made in the way the government works! *
Bharti has been in the top rank in the CISF and the security of Lucknow, Delhi, Jodhpur and Jammu Airport is in charge. *
* He has also seen the time of Atal ji as Prime Minister and Manmohan Singh too ....! *
* And now Modi is watching Jee. *
* At that time when Atalji was a member of Lucknow, when coming to Lucknow when he was in the PM, he would land on the airport. *
* Full protocol is ..... *
* Full government employee ...... *
* Lava LeT ....... *
* Large frills ......... *
* There was a caterer of the airport at the same time catering for catering. *
* In those days there was a bill of Atal Ji's visit to caterer in Lucknow from one to 1.5 lakhs. *
* In the era of Congress, Soniaji ......
* When Rahul ... or PM came, the bill went up to 10 lakh. *
* Modi has been PM since ....! *
* 4 or 5 times have visited Kashmir .... *
* Jammu, Srinagar, Katra and Leh keep coming to Ladakh ..... *
* Once Jammu had landed ...... *
 * Caterer is billed only for only 3500 rupees. *
* He also paid CISF and Air India because his staff had tea break for canteen. *
* Whenever Modi visits such a visit, then drink tea in transit with his money ....... *
* Those who are with him, they also have tea with their money. *
* Instead, they are getting TA, DA on duty travel ......! *
* Bharti ji says that during his 22 years in the CISF job, he has personally seen PM's preparations for foreign tours. *
* When the ship of PM was loaded ...... *
* What was to be used for foreign tours ....... *
* She is not able to write and write. *
* Private News Channels journalists were on board with PM ........ *
* And do not know what was going on in Ash ... .. *
* Now only 3 or 4 people of Doordarshan go. *
* Now the rivers of liquor do not flow in PM's rounds. *
* All employees spend only their travelling allowance .... *
* Now think about yourself ....., *
* In such an environment, how will the good days of the free killers and the looters of the country come .....? *
* Certain things are truly worth doing. *
* Japan's Prime Minister Shinzo Abe follows only 13 people on his Twitter, one of them is Narendra Modi. *
* Only 3 countries on the hotline can talk directly to Trump, one of them is also India. *
 * Only two countries from Putin of Russia can talk directly to America and India hotline. *
* While other countries have to accept 10 days in advance to talk to Trump and Putin. *
* And all this has happened after becoming Narendra Modi's Prime Minister .. You must give an idea of ​​India's growing position. *
  *Jai Hind! Jai Bharat !!!*
These news media will never tell
Spread two yaros across the country
This too will be a patriot

Popular Posts