TIME PASS

Entertenment & Knowledge & Time Pass.NEWS

Friday, April 27, 2018

नाभी कुदरत की एक अद्भुत देन है

No comments :
*नाभी कुदरत की एक अद्भुत देन है*
एक 62 वर्ष के बुजुर्ग को अचानक बांई आँख  से कम दिखना शुरू हो गया। खासकर  रात को नजर न के बराबर होने लगी।जाँच करने से यह निष्कर्ष निकला कि उनकी आँखे ठीक है परंतु बांई आँख की रक्त नलीयाँ सूख रही પરંતુ है। रिपोर्ट में यह सामने आया कि अब वो जीवन भर देख  नहीं पायेंगे।.... मित्रो यह सम्भव नहीं है..
मित्रों हमारा शरीर परमात्मा की अद्भुत देन है...गर्भ की उत्पत्ति नाभी के पीछे होती है और उसको माता के साथ जुडी हुई नाडी से पोषण मिलता है અને और इसलिए मृत्यु के तीन घंटे तक नाभी गर्म रहती है।
गर्भधारण के नौ महीनों अर्थात 270 दिन बाद एक सम्पूर्ण बाल स्वरूप बनता है। नाभी के द्वारा सभी नसों का जुडाव गर्भ के साथ होता है। इसलिए नाभी एक अद्भुत भाग है।
नाभी के पीछे की ओर पेचूटी या navel button होता है।जिसमें 72000 से भी अधिक रक्त धमनियां स्थित होती है।अगर सारी धमनियों को जोड़ा जाए तो उनकी लम्बाई इतनी हो जायेगी कि पृथ्वी के गोलाई पर दो बार लपेटा जा सके।

Wednesday, April 25, 2018

PM की निंदा करने से पहले *अपने गिरेबान में झांककर देखें*

No comments :
अगर बैंक की लाइन में मृत्यु के ज़िम्मेदार मोदीजी है, तो 1947 विभाजन के नरसंहार का ज़िंम्मेदार कौन ? बस वैसे ही पुछ रहा हुँ 
अगर बैंक की लाइन में मृत्यु के ज़िम्मेदार मोदीजी है, तो हजारो निर्दोष  सिखो की हत्या का जिम्मेदार कौन ? बस वैसे ही पुछ रहा हुँ 
अगर बैंक की लाइन में मृत्यु के ज़िम्मेदार मोदीजी है, तो हज़ारो कश्मीरी पंडितों के  नरसंहार का ज़िंम्मेदार कौन ? बस वैसे ही पुछ रहा हुँ 
अम्बानी ,अदानी, सिंघवी, टाटा, बिरला, माल्या, ललित मोदी,
*ये मोदी के कार्यकाल में अरबपति बने थे क्या ???*
क्या 85 अरबपतियों को जो 90 हजार करोड़ का लोन दिया गया था
*क्या वो मोदी के समय दिया गया ...??*
जिस भी अफसर के घर छापा डाला जाए... तो करोड़ रुपये तो उसके गद्दे के नीचे ही मिल जाते है ...
*क्या ये मोदी के काल में कमाए गये ....????*
*किस हद की मूर्खता पूर्ण देश भर में बातें है .*
मोदी के काल में तो माल्या के 8000 करोड़ के लोन के जवाब में ED ने उसकी 9120 करोड़ की संम्पत्ति को कब्जे में ले लिया है ..
*बस यही गलती हुई है कि मोदी अकेला भ्रष्ट लोगो के खिलाफ लड़ रहा है...*
और
*हमारे देश में नमक और नमकहराम दोनों पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं ....*
व्यक्तिगत रूप से आप *बीजेपी के विरोधी* हो सकते हैं।
बीजेपी की नीतियों के विरोधी हो सकते हैं ये एक सामान्य प्रकिया है..
और इसमें कुछ गलत भी नहीं है...

जितना टैक्स gst के पहले एक साल में आता था आज उससे ज्यादा एक महीने में आ रहा है.....

No comments :
जीएसटी माफिया को तोड़ दे रही है
कलकत्ता का मटिया ब्रिज और बड़ा बाजार रेडीमेड कपड़ो में एशिया का सबसे बड़ा मार्केट है खासकर गर्ल्स वियर के कपड़ो में टॉप पर है....हालांकि बॉम्बे, दिल्ली,अहमदाबाद,इंदौर,जबलपुर और कटनी में भी रेडीमेड कपड़ो की मंडी है लेकिन कलकत्ता इनसे आगे है......आपको शायद यकीन नही होगा इतनी बड़ी मंडी होने के बावजूद यहां से सरकार को बड़ी मुश्किल से सिर्फ 10% माल का ही टैक्स जाता था बाकी का 90% माल का टैक्स व्यापारी और सत्ताधारी मिलकर डकार जाते थे....मटिया ब्रिज मंडी में लगभग मुल्लो का कब्जा है मालिक से लेकर कारीगर तक मुसल्ले है इसलिए यहां के व्यापारियों का इनकमटैक्स विभाग में इतना खौफ है कि कोई इनकम टैक्स का अधिकारी यहां रेड मारने से पहले 100 बार सोचता था क्योंकि जो रेड मारने जाता वापस नही आता था.....धडल्ले से टैक्स चोरी होती थी
यहां क्योंकि यहां के व्यापारियों को राज्य सरकार और केंद्र सरकार का सरंक्षण प्राप्त था कपड़ो के कार्टून में भर भर कर मोमता बानो के घर तक रुपयों की गड्डियां पहुचती थी बोले तो तुम भी खाओ और हमे भी खिलाओ बाकी सब हम देख लुंगी......अरबो रुपयों की टैक्स चोरी सरकार के नाक के नीचे होती रही लेकिन केंद्र की कांग्रेस सरकार सिर्फ सत्ता के लालच में मोमता बानो का साथ देती रही.....
2014 में जब केंद्र में मोदी सरकार बनी वो सरकार जिसे भ्र्ष्टाचार मिटाने के लिए ही बहुमत मिला था....सत्ता में आते ही सरकार का पहला लक्ष्य था भ्र्ष्टाचार पर लगाम लगाना.....क्योंकि भ्र्ष्टाचार पूरी तरह से तभी खत्म होगा जब इस देश का हर व्यक्ती ईमानदार बनेगा लेकिन लगाम तो लगाई जा सकती थी.....सरकार बनते ही गज्जू की रडार में इस देश के जितने मैन्युफैक्चरिंग हब है जहां से कोई भी चीज बनती है वो सब आ गए.....क्योंकि जब तक जड़ में खाद डलेगा तब तक पौधा कभी नही बढ़ सकता......जिस देश की टैक्स प्रणाली में ही अंदर तक भ्रष्टाचार था वो देश कभी आगे नही बढ़ सकता....सत्ता में आते ही सरकार की पहली कोशिश gst लागू कर टैक्स प्रणाली में सुधार लाना..... लेकिन विपक्ष के हंगामे की वजह से 3 साल तक यह बिल लटका रहा....बाद में gst पास होते ही मोदी ने सभी राज्यो को gst के अंतर्गत आने का अल्टीमेटम दिया......
भाजपा शाषित राज्य तो तुरंत मांन गए लेकिन मोमता बानो अड़ी रही क्योंकि इसमें सीधे टैक्स केंद्र सरकार को जाना था उसके बाद राज्यसरकार को मिलना था अब मलाई हाथ से निकल रही थी तो थोड़ी छटपटाहट तो थी पहले नोटबन्दी की चोट उसके बाद ये मुआ gst पहले नंगा कर के कोड़े लगाए फिर gst लगाकर मोमता के ऊपर नमक छिड़क दिया......मरती क्या न करती अंत मे gst में शामिल होना ही पड़ा क्योंकि इसके अलावा कोई चारा भी नही था......gst में कानून इतने तगड़े है कि अच्छे अच्छे अरबपति व्यापारी भी पेंट में पेशाब कर दे .....असल मे ये कानून इन्ही बड़े डकैतों को देखते हुए बनाए गए थे इससे छोटे व्यापारियों को कोई हानि नही थी ये तो इन्ही डकैतों ने एक हौव्वा बना दिया था और छोटे व्यापारियों में एक भय का माहौल पैदा कर दिया था......
आज की तारीख में इन बड़ी मंडियों से जितना टैक्स gst के पहले एक साल में आता था आज उससे ज्यादा एक महीने में आ रहा है.....ये जो आप चमचमाती सड़के देख रहे है....गरीबो को मुफ्त में गैस कनेक्शन दिए जा रहे है....गरीबो को मुफ्त में घर दिए जा रहे है....देश की सीमाएं मजबूत की गई है....सेना की ताकत बढ़ाने के लीए आधुनिक हथियार खरीदे जा रहे है......जनहितकारी जितनी भी योजनाए लागू की गई है ये इसी का नतीजा है.....आपके द्वारा दिया गया टैक्स पहले ये डकार जाते थे आज आपके वो पैसे सरकार इनके हलक में हाथ ड़ालकर इनसे वापस ले रही है और आप पर खर्च कर रही है.....यही एक मात्र वजह है कि एक चायवाले के खिलाफ पूरा विपक्ष एक हो चुका है क्योंकि इनकी पैसे छापने की मशीन पर गज्जू ने ताला लगा दिया है......अब ये आपको तय करना है कि आप किसके साथ जाना चाहते है 2019 दूर नही है .....!!!!
       GST is breaking the Mafia
Calcutta's Matia Bridge and Big Bazaar are the largest markets in readymade clothes, especially in the clothing of Girls Veer. However, there are also readymade garments for Bombay, Delhi, Ahmedabad, Indore, Jabalpur and Katni, but Calcutta It is ahead of them ... you may not believe that despite being such a large market, the government was forced to tax only 10% of the goods, while the remaining 90% of the goods tax trader and The rulers used to go to Dakar. In Matiya Bridge Mandi, the possession of the mullahs is from the owner to the craftsman, so the traders here are so scared in the Income Tax department that an Income Tax Officer thinks 100 times before dropping here. That was because those who did not come back to kill the red were ... tax was stolen from Dhadle
 Here because the traders here were protected by the state government and the central government, filled the cartoons of the clothes and used to reach the pots of rupees from the house of Momata Bano, then you also eat and we also feed the rest, we see Lungi .... Tax evasion of Airboo remained under the nose of the government, but the Congress government at the center just kept supporting Mamta Banu in the greed of power .....
In 2014 when the Modi government was formed in the center, the government, which got the majority to eradicate corruption .... The first goal of the government when it came to power was to rein in corruption ... because corruption will be completely fulfilled only when Every person of this country will be honest but a reinforcement could have been done. In the Gaju Radar, the manufacturing hub of this country is the manufacturing hub where everything comes from where it all came ..... As long as the manure will be fertilized till the plant can never grow ... The country whose corruption was in the tax system itself can never grow ... The government's first attempt at coming to power Applying gst to improve tax system ... But due to the opposition's disagreement, the bill was hanging for 3 years. Later, as soon as the gst passed, Modi gave an ultimatum to all the states under the gst. .....
The BJP-ruled state was immediately accepted, but Mamta Banu was being persuaded because it had to go directly to the Central Government, after which the state government was going to meet, now the cream was coming out of hand, then there was a little bit of a screaming injury. Put the rabbit after putting the gest and then sprinkle the salt over the waist ... ... did not die, it had to be included in the gst in the end because there was no fodder besides ... in gst It is so strong that even the good billionaire businessmen also urinate in paint. In fact, these laws were made in view of the large dacoits, there was no harm to the small traders, these dacoits made a hawk. And had created an atmosphere of fear in small traders ......
In today's date, the amount of tax that comes from these big boards in the first year, is coming in more than a month from today .. This is what you are seeing in the bright road .... Free gas connections for the poor Giving the poor people free of cost ... the boundaries of the country have been strengthened .... Modern weapons are being purchased to increase the strength of the army ... This is the result of the schemes that have been implemented by the public. The tax was paid earlier. Today your money is being withdrawn from them by handing them over to the government and spending it on you ... This is the only reason that the entire Opposition has become one against a tea seller. Because Gazzo has locked on their money-printing machine ... now you have to decide who you want to go with 2019 is not far away ..... !!!!

Diebetes /  शुगरएक नंगा सच..

No comments :
Diebetes /  शुगर
एक नंगा सच.. जानिये.!

लूट मचाने के लिए दवा कंपनियाँ किस हद तक गिर सकती आप अनुमान भी नहीं लगा सकते ,
अभी कुछ समय पूर्व स्पेन मे शुगर की दवा बेचने वाली बड़ी-बड़ी कंपनियो की एक बैठक हुई है ,दवाओ की बिक्री बढ़ाने के लिए एक सुझाव दिया गया है कि अगर शरीर मे सामान्य शुगर का मानक 120 से कम कर 100 कर दिया जाये तो शुगर की दवाओं की बिक्री 40 % तक बढ़ जाएगी ।
आपकी जानकारी के लिए बता दूँ बहुत समय पूर्व शरीर मे सामान्य शुगर का मानक 160 था दवाओ की बिक्री बढ़ाने के लिए ही इसे कम करते-करते 120 तक लाया गया है जिसे भविष्य मे 100 तक करने की संभावना है ।
ये एलोपेथी दवा कंपनियाँ लूटने के लिए किस स्तर तक गिर सकती है ये इसका जीता जागता उदाहरण है आज मैडीकल साईंस के अनुसार शरीर मे सामान्य शुगर का मानक 80 से 120 है
अब मान लो दवा कंपनियो के साथ मिलीभगत कर इन्होने कुछ फर्जी शोध की आड़ मे नया मानक 70 से 100 तय कर दिया, अब अच्छा भला व्यक्ति शुगर टेस्ट करवाये और शुगर का सतर 100 से 110 के बीच आए ,तो डाक्टर आपको शुगर का रोगी घोषित कर देगा,
भय के कारण आप शुगर की एलोपेथी दवाएं लेना शुरू कर देंगे, अब शुगर तो पहले से सामान्य थी आपने जो भय के कारण शुगर कम करने की दवा ली तो उल्टा शरीर मे और कमजोरी महसूस होने लगेगी ,
और आप फिर इस अंधी खाई मे गिरते चले जाएंगे ।
और मान लो आप जैसे 2 -3 करोड़ लोग भी इस
साजिश का शिकार हुए तो ये एलोपेथी दवा कंपनियाँ लाखो करोड़ का व्यापार कर डालेंगी
एक नंगा सच.. जानिये.! क्या आप जानते हैं.............  
1997 से पहले fasting diebetes की limit 140 थी।
फिर fasting sugar की limit 126 कर दी गयी।
इससे world population में 14% diebetec लोग अचानक बढ़ गए।
उसके बाद 2003 में WHO ने फिर से fasting sugar की limit कम करके 100 कर दी।
याने फिर से total population के करीबन 70% लोग diebetec माने जाने लगे।
दरअसल diebetes ratio या limit तय करने वाली कुछ pharmaceutical कंपनियां थीं जो WHO को घूस खिलाकर अपने व्यापार को बढ़ाने के लिये ये सब करवा रही थीं।
और अपना बिज़नेस बढ़ाने के लिए ये किया जाता रहा।
लेकिन क्या आपको पता है कि
हकीकत में डायबिटीज को कैसे जांचना चाहिए ?
कैसे पता चलेगा कि आप डायबिटीज के शिकार हैं भी या नहीं ?
पुराने जमाने के इलाज़ के हिसाब से
डायबिटीज चेक करने का एक सरल उपाय है ---
आप की उम्र और + 100
जी हाँ
यही एक सचाई है
अगर आपकी उम्र 65 है तो आपका सुगर लेवल खाने के बाद 165 होना चाहिये।
अगर आपकी age 75 है तो आपका नॉर्मल सुगर लेवेल खाने के बाद 175 होना चाहिए।
अगर ऐसा है तो इसका मतलब आपको डायबिटीज नहीं है।
ये होता है age के हिसाब से यानी..
So now you can count your diebetec limit as 100 + your age.
अगर आपकी उम्र 80 है तो फिर आपकी डायबिटिक लिमिट खाने के बाद 180 काउंट की जानी चाहिये।
मतलब अगर आपका सुगर लेवल इस उम्र में भी 180 है तो आप डायबिटिक नहीं हैं।
आपकी गिनती नॉर्मल इंसान जैसी होनी चाहिये।
लेकिन W.H.O. को अपने कॉन्फिडेंस में लेकर बहुत सारी फार्मा कम्पनियों ने अपने व्यापार के लिये सुगर लेवेल में उथल पुथल कर दी और आम जनता उस चक्रव्यूह में फंस गई।
No Doctor can guide u.
No one will advice u.
But its a bitter truth.!
उसके साथ साथ एक सच ये भी है कि--
अगर आपकी पाचन शक्ति उत्तम है तो आपको कोई टेंशन लेने की कोई जरूरत नहीं है
या फिर आप अपने जीवन में कोई टेंशन नहीं लेते।
आप अच्छा खाना खाते हो
आप जंक फूड, ज्यादा मसालेदार या तैलीय भोजन या फ़्राईड फूड नहीं खाते
आप रेगुलर योगा या कसरत करते हैं
और आपका वजन आपकी हाइट के हिसाब के बराबर है
तो आपको डायबिटीज हो ही नहीं सकती।
यही सत्य है, बस टेंशन न लें अच्छा खाना खाएं, एक्सरसाइज करते रहें।
पोस्ट को शेयर करना मत भूलिए .... जागो और दूसरों को जगाओ !
       Diebetes / Sugar
A naked truth .. know!

To the extent that drug companies can fall to plunder you can not even guess,
There is a meeting of large companies selling sugar medicines in Spain some time ago, a suggestion has been made to increase the sale of medicines, if the normal sugar in the body is reduced from 120 to 100, then sugar The sale of drugs will increase by 40%.
For your information, long before the normal standard of normal sugar in the body was 160, it has been brought down to 120 to reduce the sales of drugs, which is likely to be done in the future by 100.
These alopecia medicines can fall to the level of drug companies, it is a living example. Today, according to the Medical Science, the standard of normal sugar in the body is 80 to 120
Now, suppose, compromising with the pharmaceutical companies, they fixed new standard 70 to 100 under the guise of some bogus research, now a good person can make a sugar test and the level of sugar is between 100 to 110, the doctor declares you as a patient of sugar. will do it,
Due to fear, you will start taking allopathy medicines of sugar, now the sugar was already normal. If you take the medicine to reduce sugar due to the fear, you will start feeling weakness in the body,
And you will go away again in this dark hole.
And assume that 2 crore people like you
If the victim is a victim, then allopathy drug companies will trade millions of crores
A naked truth .. know! Do you know.............
Prior to 1997 the limit of fasting diebetes was 140.
Then the limit of fasting sugar was made to 126.
By this, 14% diebetec people in the world population suddenly increased.
After that, the WHO again reduced the limit of fasting sugar to 100 in 2003.
Again, around 70% of the total population started to be considered diebetec.
Actually, there were some pharmaceutical companies deciding the deathbetes ratio or the limit which were doing this to raise the business by feeding the WHO to the WHO.
And this has been done to increase your business.
But do you know that
How to check diabetes in reality?
How do you know if you are a victim of diabetes or not?
According to the treatment of old age
One simple way to check diabetes is ---
Your age and + 100
Yes
This is the truth
If you are 65 then your sugar level should be 165 after eating.
If you are 75 then your normal sugar level should be 175 after eating.
If that is the case, then you do not have diabetes.
This is the age i.e. ..
So now you can count your diebetec limit as 100 + your age.
If you are 80, then your diabetic limit should be 180 counts after eating.
Meaning if your Sugar Level is also 180 at this age then you are not diabetic.
Your countdown should be like a normal person.
But W.H.O. By taking them to their confidences, many pharma companies have wreaked havoc in Sugar Level for their business and the general public got trapped in that maze.
No Doctor can guide u
No one will advice
But its a bitter truth.!
Along with that there is a fact that--
If your digestion power is good then there is no need to take any tension
Or you do not take any tension in your life.
You eat good food
You do not eat junk food, more spicy or oily food or friday food
Regular Yoga or Exercise
And your weight is equal to your height
So you can not get diabetes.
This is the truth, do not take tension, eat good food, do exercises.
Do not forget to share the post .... Wake up and wake others!

✴ अच्छा समाचार✴सुप्रीम कोर्ट ऑर्डर

No comments :
✴ अच्छा समाचार✴
सुप्रीम कोर्ट ऑर्डर
==========================
रेलवे अधिकारियों ने एक प्रणाली शुरू की है जहां कोई एक चलती ट्रेन से शिकायत कर सकता है।
शिकायत के बारे में एसएमएस स्वीकार किया जाएगा और भाग लिया जाएगा।
ट्रेन नंबर, बॉगी नो, शिकायतों की सटीक प्रकृति दें
स्नान कक्ष में पानी नहीं
कोई प्रकाश नहीं/
प्रशंसक काम नहीं कर रहा /
एसएमएस के माध्यम से सुरक्षा समस्या आदि।
यह एक प्रभावी उपकरण है।
रेलवे शिकायत एसएमएस
नहीं: 8121281212 है।

कृपया इस संदेश को पास करें, यह बहुत उपयोगी है
==========================
1. यदि आप भारत में कहीं भी भिखारी बच्चों को देखते हैं, तो कृपया संपर्क करें:
9940217816 पर "लाल सोसाइटी"। वे बच्चों को उनके अध्ययन के लिए मदद करेंगे।

==========================
2. आप किसी भी ब्लड ग्रुप के लिए कहां खोज सकते हैं, आपको हजारों मिलेंगे
दाता के पते का। www.friendstosupport.org

==========================
3. इंजीनियरिंग छात्र www.campuscouncil.com में पंजीकरण कर सकते हैं
40 कंपनियों के लिए कैंपस चयन में भाग लें।

==========================
4. विकलांग / शारीरिक रूप से विकलांग बच्चों के लिए नि: शुल्क शिक्षा और नि: शुल्क छात्रावास।
संपर्क: - 9842062501 और 98 9 4067506।

==========================
5. अगर कोई आग दुर्घटना या समस्याओं से पैदा हुए लोगों से मुलाकात की
उनके कान, नाक और मुंह से मुक्त प्लास्टिक सर्जरी हो सकती है
कोडाईकनाल पासम अस्पताल।
जर्मन डॉक्टरों द्वारा। सब कुछ मुफ्त है।
संपर्क: 045420-240668, -245732 "

होंठ प्रार्थना करने से हाथों की मदद करना बेहतर है "

Tuesday, April 24, 2018

जो 1947 से 1990के बीच जन्में है,

No comments :
1990 से पहले जन्म वाले जरुर पढ़े
बहुत अच्छी फीलिंग आयेगी ☺

.
हम लोग,
जो 1947 से 1990
के बीच जन्में है,
We essed because,
 हमें कभी भी
हमारें माता- पिता को
हमारी पढाई को लेकर
कभी अपने programs
आगे पीछे नही करने पड़ते थे...!
 स्कूल के बाद हम
देर सूरज डूबने तक खेलते थे
 हम अपने
real दोस्तों के साथ खेलते थे;
net फ्रेंड्स के साथ नही ।
 जब भी हम प्यासे होते थे
तो नल से पानी पीना
safe होता था और
हमने कभी mineral water bottle को नही ढूँढा ।
हम कभी भी चार लोग
गन्ने का जूस उसी गिलास से ही
पी करके भी बीमार नही पड़े ।
 हम एक प्लेट मिठाई
और चावल रोज़ खाकर भी
बीमार नही हुए ।
 नंगे पैर घूमने के बाद भी
हमारे पैरों को कुछ नही होता था ।
 हमें healthy रहने
के लिए Supplements नही
लेने पड़ते थे ।
हम कभी कभी अपने खिलोने
खुद बना कर भी खेलते थे ।
 हम ज्यादातर अपने parents के साथ या grand- parents के पास ही रहे ।
हम अक्सर 4/6 भाई बहन
एक जैसे कपड़े पहनना
शान समझते थे.....

common. वाली नही
एकतावाली feelings ...
enjoy करते थे
 हमारे पास
न तो Mobile, DVD's,
PlayStation, Xboxes,
PC, Internet, chatting,
क्योंकि
हमारे पास real दोस्त थे ।
 हम दोस्तों के घर
बिना बताये जाकर
मजे करते थे और
उनके साथ खाने के
मजे लेते थे।
कभी उन्हें कॉल करके
appointment नही लेना पड़ा ।
 हम एक अदभुत और
सबसे समझदार पीढ़ी है क्योंकि
हम अंतिम पीढ़ी हैं जो की
अपने parents की सुनते हैं...
और
साथ ही पहली पीढ़ी
जो की
अपने बच्चों की सुनते हैं ।
We are not special,
but.
We are
LIMITED EDITION
and we are enjoying the
Generation Gap......
share if u r agree
*तेरी बुराइयों* को हर *अख़बार* कहता है,
और तू मेरे *गांव* को *गँवार* कहता है //
*ऐ शहर* मुझे तेरी *औक़ात* पता है //
तू *चुल्लू भर पानी* को भी *वाटर पार्क* कहता है //
*थक* गया है हर *शख़्स* काम करते करते //
तू इसे *अमीरी* का *बाज़ार* कहता है।
*गांव* चलो *वक्त ही वक्त* है सबके पास !!
तेरी सारी *फ़ुर्सत* तेरा *इतवार* कहता है //
*मौन* होकर *फोन* पर *रिश्ते* निभाए जा रहे हैं //
तू इस *मशीनी दौर* को *परिवार* कहता है //
जिनकी *सेवा* में *खपा* देते थे जीवन सारा,
तू उन *माँ बाप* को अब *भार* कहता है //
*वो* मिलने आते थे तो *कलेजा* साथ लाते थे,
तू *दस्तूर* निभाने को *रिश्तेदार* कहता है //
बड़े-बड़े *मसले* हल करती थी *पंचायतें* //
तु अंधी *भ्रष्ट दलीलों* को *दरबार* कहता है //
बैठ जाते थे *अपने पराये* सब *बैलगाडी* में //
पूरा *परिवार* भी न बैठ पाये उसे तू *कार* कहता है //
अब *बच्चे* भी *बड़ों* का *अदब* भूल बैठे हैं //
तू इस *नये दौर* को *संस्कार* कहता है *.//*
किसी मित्र ने पोस्ट किया था जिसे पढ़ने के बाद मैं रोक न सका और आप सभी के बिच समर्पित किया !!.
       Born before 1990
Very nice will come

.
we people,
Which is from 1947 to 1990
Is born between,
We are blessed because,
 anytime
We parents
Our studies
Ever your programs
Had not left back ...!
 After school we
The late suns played till the drowning
 We
Were played with real friends;
net not with friends
 whenever we were thirsty
Drink water with tap
was safe and
We never found the mineral water bottle.
 We never four people
Sugarcane juice from the same glass
Not too sick to drink.
 We have a plate sweets
And by eating rice everyday
Not sick
 Even after walking bare legs
There was nothing to our feet.
 Keep us healthy
No supplements for
Had to pick up.
 We sometimes make our toys
They made themselves even by playing.
 We are mostly with our parents or grand-parents.
We often 4/6 siblings
Uniform clothes
Shan knew .....
common Not with
Unity feelings ...
used to enjoy
 We have
Neither Mobile, DVD's,
PlayStation, Xboxes,
PC, Internet, chatting,
Because
We had real friends.
 Friends of friends
Unbeknownst
Used to be fun and
Eat with them
Used to enjoy
Ever call them
There was no appointment.
 We are a wonderful and
The most sensible generation because
We are the last generation of
Listen to your parents ...
And
As well as first generation
Which
Listen to your children.
We are not special,
but.
We are
LIMITED EDITION
and we are enjoying the
Generation Gap ......
share if u r agree
* Tells your evils * to every newspaper *
And you call my * village * to the thump *
* A city * I know * you *
You * also call water * to * water park *
* Tired * Has been * everybody working *
You call it * the * market * of * emery *.
* Village * Walk * time is right * everyone has !!
Yours * Furrats * Yours * Sunday *
* Silent * * * * * Relationships * are being played *
You call this * mechanical round * to the family *
Whose services were * spent * in life,
You call those * parents * now * loads *
* He used to meet * Kaleja * when he used to meet,
You * say * to play rituals * relatives *
Large issues * solved * panchayats * //
You call blind * corrupt pleasures * to * court *
Sat in your footsteps * all * bullock cart *
You can not even sit in full * family *, you say * car *
Now * children * also forget about * elders *
You call this * new round * rite *. * // *
A friend had posted that I could not stop after reading and dedicated all of you!

*कांग्रेस द्वारा राममंदिर निर्माण में बाधा डालना-*  

No comments :
*कांग्रेस द्वारा राममंदिर निर्माण में बाधा डालना-*   
* चीफ जस्टिस 2 अक्टूबर को रिटायर होने वाले हैं और कांग्रेस के सहयोगी दलों के पास इतने मेंबर नही के महाभियोग पास करा सकें तो फिर ये महाभियोग का नाटक क्यों?
.
दोस्तों वजह सिर्फ एक..
*राम मंदिर।*
ये महाभियोग का पूरा नाटक मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के वकील और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल के दिमाग की उपज है।
दरअसल राम मंदिर पर नियमित सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में शुरू होने वाली है और उस बेंच को CJI यही दीपक मिश्रा ही लीड करने वाले हैं.. सुनवाई तेज़ी से होगी और चूंकि सारे साक्ष्य चाहे वो लैंड रिकार्ड्स हो या पुरातात्विक सब हिन्दू पक्ष में हैं। कांग्रेस को डर है राम मंदिर के पक्ष में फैसला 2019 के चुनाव से पहले आया तो सीधा फायदा bjp को होगा।
CJI के खिलाफ महाभियोग से क्या होगा?
होगा ये के जब सदन में महाभियोग का प्रस्ताव रखा जाएगा तो नियमानुसार CJI किसी केस की सुनवाई तब तक न कर सकेंगे जब तक जाँच पूरी न हो और प्रस्ताव पर वोटिंग न हो।
कांग्रेस जानती है के जाँच में समय लगेगा और जब तक वोटिंग होगी 3 महीने गुज़र चुके होंगे। उसे पता है के महाभियोग का प्रस्ताव गिर जाएगा लेकिन तब तक केस का काफी समय बर्बाद हो चुका होगा फिर दीपक मिश्रा के पास इतना समय नही होगा के अपने रिटायरमेंट तक केस को निपटा पाएं। 2 अक्टूबर के बारे CJI बनेंगे रंजन गोगोई जो कांग्रेसी पाले के जस्टिस हैं। बाकी खेल क्या होगा कहने की ज़रूरत नही है।
कांग्रेस राम मंदिर निर्माण रुकवाने के लिए इतना नीचे गिर जाएगी किसी ने सोचा भी नही था।
अरे कांग्रेसियों अगर थोड़ी गैरत बची हो और थोड़ा प्रेम हो सीताराम के प्रति तो आज तो अपनी राजभक्ति त्याग कर अपनी पार्टी के इस फैसले का विरोध करो।
प्लीज इस MSG को दूसरे ग्रुप्स में फारवर्ड करें के लोग जान सकें हमारे मुल्क कर रहनुमा यहां की मिट्टी यहां की संस्कृति यहां के आदर्शों से कितनी नफरत करते हैं। *

*श्री राम जय राम जय जय राम।*
         * Congress hinders construction of Ram temple; *
* Chief Justice is scheduled to retire on October 2 and if the allies of Congress can pass the impeachment of not having such number of members, then why this impeachment drama?
.
Friends just because one ..
* Ram Mandir. *
This whole episode of impeachment is the brainchild of the lawyer of the Muslim Personal Law Board and the leader of Congress leader Kapil Sibal.
In fact, regular hearings on Ram temple are going to begin in the Supreme Court and the CJI is going to lead Deepak Mishra. The hearing will be faster and since all the evidence whether it is land records or the archaeological all are on the Hindu side. The Congress is afraid that if the decision in favor of the Ram temple comes before the election of 2019, then the direct benefit of the BJJ will be.
What will happen to impeachment against CJI?
If the proposal of impeachment will be kept in the House, then according to the rules, the CJI will not be able to hear any case until the investigation is completed and voting is not on the proposal.
It will take time for the Congress to know that it will take 3 months and till the voting will be done. He knows that the impeachment proposal will fall, but by then the case will have been wasted so Deepak Mishra will not have enough time to deal with the case till his retirement. About 2 October, CJI will become Ranjan Gogoi, who is the Justice of Congress Party. There is no need to say what the rest of the game will be.
Congress will fall so low to stop the construction of Ram temple, nobody thought.
If the Congressmen remain a little absent and have a little love, then today they should oppose the decision of their party by sacrificing their royalty towards Sitaram.
Please let this MSG forward in other groups, people can know that our country's soil here is so much like the soil here that the culture here hates the ideals here. *
* Sri Ram Jai Ram Jai Jai Ram. *

फिर मुस्लिम पर्सनल बोर्ड क्यों ?

No comments :
जब हिंदुस्तान का संविधान बना तो संविधान के सामने टक्कर लेनेके लिए :--
१:- जैनोने जैन पर्सनल बोर्ड नही बनाया ।
२:-बौद्धों ने बौद्ध पर्सनल बोर्ड नही बनाया ।
३;-शैवोने शैव पर्सनल बोर्ड नही बनाया ।
४:-शाक्तों ने शाक्त पर्सनल बोर्ड नही बनाया ।
५:-वैष्णवोने वैष्णव पर्सनल बोर्ड नही बनाया ।
६:-अघोरीने अघोर पर्सनल बोर्ड नही बनाया ।
७:-लींगायतोने लिंगायत पर्सनल बोर्ड नही बनाया ।
८:- पारसीने पारसी पर्सनल बोर्ड नही बनाया ।
९:-अद्वैतवादियों ने अद्वैत पर्सनल बोर्ड नही बनाया ।
१०:-द्वैतवादीओने द्वैत पर्सनल बोर्ड नही बनाया ।
११:-विशिष्टाद्वैतवादीओने विशिष्टाद्वैत पर्सनल बोर्ड नही बनाया ।

(ये सुचि बहुत लंबी है)
तो फिर मुस्लिम पर्सनल बोर्ड क्यों ?
सभी को समान अधिकार का सिद्धांत संविधान मे है, ओर सभी ने मान्य रक्खा मात्र मुस्लिमो मे अपवाद क्यों ?
सभी धर्मों के पर्सनल बोर्ड बनाया जाय या तो किसीका भी पर्सनल बोर्ड ना रहै ।
         When the constitution of India becomes a constitution to take the front of the Constitution: -
1: - Janano did not make Jain personal board.
2: - Buddhists did not make Buddhist personal board.
3; -Schevone Shaiv ​​Personal Board is not created.
4: - The people did not make the Shakta personal board.
5: -Vaishnavo did not make Vaishnava personal board.
6: -Agory did not create a strong personal board.
7: -Liangyo did not make a Lingayat personal board.
8: - Parsi Parsi Personal Board is not created.
9: -The Advocates did not make Advait personal board.
10: -Davitists did not create dual personal board.
11: -Specialists did not make special board specially.
(This list is very long)
Then why the Muslim Personal Board?
The principle of equal rights to all is in the constitution, and why are all exceptionally acceptable Muslims only exceptions?
Personalized board of all religions should be made, either there is no personal board.

कांग्रेस CJI के खिलाफ महाभियोग क्यों ।।

No comments :
कांग्रेस CJI के खिलाफ महाभियोग ला रही हैं...
इनको...
ना सेना पर भरोसा है,
ना पुलिस पर भरोसा है,
ना CBI पर भरोसा है,
ना न्यायालय पर भरोसा है,
ना निर्वाचन आयोग पर भरोसा है,
ना EVM पर भरोसा है,
ना मतदाताओं पर भरोसा है,
ना चुनी हुई सरकार पर भरोसा है,
और ना सुप्रीम कोर्ट के जज पर भरोसा है,
बल्कि...
इन्हें भरोसा था याकूब मेनन पर,
इन्हें भरोसा था अफजल गुरु पर,
इन्हें भरोसा है पत्थरबाजो पर,
इन्हें भरोसा है नक्सलियों पर,
इन्हें भरोसा है आतंकी समर्थकों पर,
इन्हें भरोसा है कश्मीरी अलगाववादियों पर,
इन्हें भरोसा है भारत के टुकड़े करने की मांग करने वाले JNU के वृद्ध गद्दारों पर,
इन्हें भरोसा है पाकिस्तान पर,
इन्हें भरोसा है चीन पर,
इन्हें भरोसा है जातिवादी दंगाईयों पर,
सत्ता पाने की लालसा मे अंधे होकर ये धुर्त और गिरी हुई मानसिकता के लोग राष्ट्र को बर्बादी के गर्त में ढकेलने पर आमादा हैं।
विचार कीजिए और भारत को सीरिया होने से बचा लिजिए...
樂樂樂

      Congress is taking impeachment against CJI ...
They ...
Do not trust the army,
Do not trust the police,
Neither is the CBI trusting,
No trust in the court,
There is no confidence in the Election Commission,
Do not trust EVM,
Do not trust voters,
There is no trust in the elected government,
And no trust in the Supreme Court judge,
Rather...
He trusted Yakub Menon,
He had confidence in Afzal Guru,
They trust the stonebomb,
They trust Naxalites,
They trust the supporters of the terrorists,
They are confident Kashmiri separatists,
They are confident that on JNU's aged traitors who wanted to break India,
They trust Pakistan,
They believe in China,
They trust the racist rioters,
By being blind in the greed of gaining power, the people of this erupt and downfall mentality are intent on pushing the nation into a wasteful waste.
Think and save India from getting Syria ...
樂樂樂


PM NARENDRA MODI JI KA swaksh bharat abhiyan,..

No comments :
     PM ने पूजा करके हाथ पुंछ कर टिश्यु पेपर कँहा फेंका कृपया देखिएगा जरूर।👇
यही है स्वच्छ भारत का सही अम्पायर ।।।।

AIIMS New DELlHI में इलाज कराना हुआ और आसान।

No comments :
देश का सबसे बड़ा हॉस्पिटल एम्स ( AIIMS New DELlHI )   में इलाज कराना हुआ और आसान। आधार कार्ड नम्बर दीजिये और आन लाइन रजिस्ट्रेशन कराइये। एम्स ने इसकी शुरुआत कर दी है। जी हाँ एम्स ने ये पहल आज से शुरू कर दिया है। अब आपको ओपीडी कार्ड बनाने के लिये लम्बी लम्बी लाइन में लगना नहीं पड़ेगा और ना ही किसी दलाल के चक्कर में पड़ना पड़ेगा। इसके लिए आपको सिर्फ aiims की वेबसाइट पर जाना है और ओपीडी पर क्लिक करना है। इसमें ऑप्शन आयेगा न्यू रजिस्ट्रेशन एवं ओल्ड रजिस्ट्रेशन का। आपको अपना आधार कार्ड नं० डालना है। उसमें आपकी सारी डिटेल आ जायेगी। अब आपको जिस विभाग में दिखाना है उस पर क्लिक करना है। उसके बाद पेमेंट का ऑप्शन आयेगा। आपको क्रेडिट कार्ड या एटीएम कार्ड का नं० डालना है और ओके पर क्लिक करना है। बस हो गया आपका रजिस्ट्रेशन। अब आपके मोबाइल पर मेसेज आ जायेगा जिसमें रजिस्ट्रेशन नं० से लेकर डाक्टर का नाम और दूसरी सारी जानकारी आपके मोबाइल पर आ जायेगा .कृपया यह जानकारी आगे भी प्रेषित करने का कष्ट करें !
आप सबसे निवेदन है, यह मैसेज सिर्फ 3 लोगों को जरूर भेजें... और उन तीन लोगो को कहे की यह मैसेज आगे तीन लोगों को भेजें, हम सब बलिदान ना सही पर देश कै लिए इक छोटा सा काम तो कर सकते हैं
        To be treated in the country's largest hospital AIIMS (New Delhi), it is easier to treat. Enter Aadhar card number and register for online registration. AIIMS has started this. Yes, AIIMS has started this initiative from today. Now you will not have to go into the long line to make the OPD card nor will you have to fall in the middle of a broker. For this you just have to go to the aiims website and click on OPD. There will be an option for new registrations and old registrations. You have to put your base card number. There will be all your details in it. Now you have to click on the department to show in it. After that the payment option will come. You have to enter the credit card or ATM card number and click OK. It's been your registration. Now you will get a message on your mobile, from which registration number to the name of the doctor and all other information will come on your mobile. Please try to send this information even further!
 You are the most requested, send this message to only 3 people ... and tell those three people to send this message to the next three people, we can do a small task for all the sacrifices on the right side.

कोई भी माया के प्रलोभन से बच नहीं पाता,

No comments :
एक महात्मा जंगल से होकर गुजर रहे थे।
उन्होंने ऐसा एक दृश्य देखा,
कि उनका हृदय करुणा से भर गया और आश्चर्य मिश्रित दुख हुआ।
बात यह थी,
कि एक तोते को पकड़ने वाले शिकारी ने दो बांस अलग-अलग गाड़ रखे थे।
एक रस्सी में बांस के ही छोटे-छोटे पोले पिरोकर,
रस्सी के दोनों सिरे दोनों बांस में बाँध दिए,
और उसमें तोते का प्रिय भोजन लटका दिया।
जंगली तोते भोजन के लोभ से रस्सी पर आकर जैसे ही बैठते,
बांस के पोले वजन से घूम जाते और तोते उलटे लटक जाते।
घबराहट में गिरने के डर से वो उड़ते भी नहीं।
शिकारी आराम से सबको पकड़कर झोले में डाल देता।
महात्मा ने सोचा- कितना आश्चर्य है,
ये भूल जाते हैं कि हम उड़ भी सकते हैं।
महात्मा ने दयावश शिकारी से पूछा- भैय्या! ये सब तोते कितने में बेचोगे?
तो शिकारी ने जबाब दिया- बाजार जाने का झंझट बचेगा।
आप जो चाहो दे दो।
और महात्मा ने सब तोते खरीद लिए।
अपने आश्रम लाकर सबको सिखाना शुरू किया- भाई! कुछ पाठ सीख लो,
जिससे समस्त तोते जाति का कल्याण होगा।
पाठ - 1) शिकारी आएगा जाल बिछाएगा।
पाठ - 2) तुम लोभ में मत फंसना।
पाठ - 3) यदि खाने के लिए बैठ भी जाओ तो डरना मत।

तुम्हारे पंख हैं तुम उड़ जाना।
कुछ दिनों में जब सब तोते पाठ सीख गये और अच्छी तरह बोलने लगे,
तो महात्मा ने उसी जंगल में सबको छोड़ दिया।
और निश्चिन्त हो गए कि अब शिकारी की दाल नहीं गलेगी।
ये सब तोते एक-दूसरे को शिक्षा देकर मुक्त कर देंगे।
परन्तु महान आश्चर्य,
महात्मा कुछ दिनों बाद उसी जंगल से निकले तो क्या देखा,
कि सभी तोते उल्टे लटके रट रहे हैं,
पाठ - 1) शिकारी जाल बिछाएगा।
पाठ - 2) तुम लोभ में मत फंसना।
पाठ - 3) यदि खाने के लिए बैठ भी जाओ तो डरना मत।
तुम्हारे पंख हैं तुम उड़ जाना।
परन्तु उनमें से कोई भी उड़ नहीं रहा था और सब के सब लटके हैं।
इसी तरह, उसी रटे तोते की तरह हम सब भी आपस में शिक्षा दे रहे हैं,
कि संसार माया जाल है।
इसके लोभ में मत फंसना।
तुम ईश्वर अंश हो और ईश्वर तक पहुंच सकते हो।
परन्तु आश्चर्य की बात है,
कि कोई भी माया के प्रलोभन से बच नहीं पाता,
और ईश्वर से साक्षात्कार नहीं कर पाता है।  
         A Mahatma was passing through the jungle.
He saw such a scene,
That their heart was full of compassion and the surprise was mixed pain.
The thing was,
That the hunter catching a parrot had placed two bamboo different carts.
By rolling the bamboo small poles in a rope,
Both ends of the rope tied in both bamboos,
And hung in the dear food of Parrot in it.
When wild parrots sit on the rope with the greed of food,
Bamboo paws roamed in weight and parrot hangs upside down.
They do not fly even in fear of falling into fright.
The hunter can easily take everyone and put them in the bag.
The Mahatma thought - How surprised,
They forget that we can fly.
Mahatma asked the Dukeshwar hunter- Bhaiyya! How many of these parrots will you sell in?
The hunter responded - the hassle of going to the market would be left.
Give whatever you like.
And the Mahatma bought all parrots.
Launched your ashram and started to teach everyone- Brother! Learn some lessons,
This will be the welfare of all the parrot castes.
Lesson - 1) The hunter will come nets.
Lesson - 2) Do not get entangled in greed
Lesson - 3) If you sit down to eat then do not be scared.

You have wings, you fly
In a few days when all parrots learned to read and started speaking well,
So the Mahatma left everyone in the same forest.
And they were assured that now the hunter's pulse will not grow.
These parrots will free each other with education.
But great wonder,
What happened when Mahatma came out of the forest a few days later,
That all the parrots are crying in reverse,
Lesson - 1) The hunter will lay the trap.
Lesson - 2) Do not get entangled in greed
Lesson - 3) If you sit down to eat then do not be scared.
You have wings, you fly
But none of them was flying and all of them were hanging.
Similarly, like all those parrots, we are all teaching each other,
That the world is the Maya trap.
Do not get caught in its greed.
You are God's part and can reach God.
But surprisingly,
That no one can escape the temptation of maya,
And can not be interviewed by God.

क्यों हैरान करता है इंसान का शरीर, वैज्ञानिकों को

No comments :
अद्भुत है इंसान का शरीर
*जबरदस्त फेफड़े*
हमारे फेफड़े हर दिन 20 लाख लीटर हवा को फिल्टर करते हैं. हमें इस बात की भनक भी नहीं लगती. फेफड़ों को अगर खींचा जाए तो यह टेनिस कोर्ट के एक हिस्से को ढंक देंगे.
*ऐसी और कोई फैक्ट्री नहीं*
हमारा शरीर हर सेकंड 2.5 करोड़ नई कोशिकाएं बनाता है. साथ ही, हर दिन 200 अरब से ज्यादा रक्त कोशिकाओं का निर्माण करता है. हर वक्त शरीर में 2500 अरब रक्त कोशिकाएं मौजूद होती हैं. एक बूंद खून में 25 करोड़ कोशिकाएं होती हैं.
*लाखों किलोमीटर की यात्रा*
इंसान का खून हर दिन शरीर में 1,92,000 किलोमीटर का सफर करता है. हमारे शरीर में औसतन 5.6 लीटर खून होता है जो हर 20 सेकेंड में एक बार पूरे शरीर में चक्कर काट लेता है.
*धड़कन, धड़कन*
एक स्वस्थ इंसान का हृदय हर दिन 1,00,000 बार धड़कता है. साल भर में यह 3 करोड़ से ज्यादा बार धड़क चुका होता है. दिल का पम्पिंग प्रेशर इतना तेज होता है कि वह खून को 30 फुट ऊपर उछाल सकता है.
*सारे कैमरे और दूरबीनें फेल*
इंसान की आंख एक करोड़ रंगों में बारीक से बारीक अंतर पहचान सकती है. फिलहाल दुनिया में ऐसी कोई मशीन नहीं है जो इसका मुकाबला कर सके.
*नाक में एंयर कंडीशनर*
हमारी नाक में प्राकृतिक एयर कंडीशनर होता है. यह गर्म हवा को ठंडा और ठंडी हवा को गर्म कर फेफड़ों तक पहुंचाता है.
*400 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार*
तंत्रिका तंत्र 400 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से शरीर के बाकी हिस्सों तक जरूरी निर्देश पहुंचाता है. इंसानी मस्तिष्क में 100 अरब से ज्यादा तंत्रिका कोशिकाएं होती हैं.
*जबरदस्त मिश्रण*
शरीर में 70 फीसदी पानी होता है. इसके अलावा बड़ी मात्रा में कार्बन, जिंक, कोबाल्ट, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फॉस्फेट, निकिल और सिलिकॉन होता है.
*बेजोड़ झींक*
झींकते समय बाहर निकले वाली हवा की रफ्तार 166 से 300 किलोमीटर प्रतिघंटा हो सकती है. आंखें खोलकर झींक मारना नामुमकिन है.
*बैक्टीरिया का गोदाम*
इंसान के वजन का 10 फीसदी हिस्सा, शरीर में मौजूद बैक्टीरिया की वजह से होता है. एक वर्ग इंच त्वचा में 3.2 करोड़ बैक्टीरिया होते हैं.
*ईएनटी की विचित्र दुनिया*
आंखें बचपन में ही पूरी तरह विकसित हो जाती हैं. बाद में उनमें कोई विकास नहीं होता. वहीं नाक और कान पूरी जिंदगी विकसित होते रहते हैं. कान लाखों आवाजों में अंतर पहचान सकते हैं. कान 1,000 से 50,000 हर्ट्ज के बीच की ध्वनि तरंगे सुनते हैं.
*दांत संभाल के*
इंसान के दांत चट्टान की तरह मजबूत होते हैं. लेकिन शरीर के दूसरे हिस्से अपनी मरम्मत खुद कर लेते हैं, वहीं दांत बीमार होने पर खुद को दुरुस्त नहीं कर पाते.
*मुंह में नमी*
इंसान के मुंह में हर दिन 1.7 लीटर लार बनती है. लार खाने को पचाने के साथ ही जीभ में मौजूद 10,000 से ज्यादा स्वाद ग्रंथियों को नम बनाए रखती है.
*झपकती पलकें*
वैज्ञानिकों को लगता है कि पलकें आंखों से पसीना बाहर निकालने और उनमें नमी बनाए रखने के लिए झपकती है. महिलाएं पुरुषों की तुलना में दोगुनी बार पलके झपकती हैं.
*नाखून भी कमाल के*
अंगूठे का नाखून सबसे धीमी रफ्तार से बढ़ता है. वहीं मध्यमा या मिडिल फिंगर का नाखून सबसे तेजी से बढ़ता है.
*तेज रफ्तार दाढ़ी*
पुरुषों में दाढ़ी के बाल सबसे तेजी से बढ़ते हैं. अगर कोई शख्स पूरी जिंदगी शेविंग न करे तो दाढ़ी 30 फुट लंबी हो सकती है.
*खाने का अंबार*
एक इंसान आम तौर पर जिंदगी के पांच साल खाना खाने में गुजार देता है. हम ताउम्र अपने वजन से 7,000 गुना ज्यादा भोजन खा चुके होते हैं.
*बाल गिरने से परेशान*
एक स्वस्थ इंसान के सिर से हर दिन 80 बाल झड़ते हैं.
*सपनों की दुनिया*
इंसान दुनिया में आने से पहले ही यानी मां के गर्भ में ही सपने देखना शुरू कर देता है. बच्चे का विकास वसंत में तेजी से होता है.
*नींद का महत्व*
नींद के दौरान इंसान की ऊर्जा जलती है. दिमाग अहम सूचनाओं को स्टोर करता है. शरीर को आराम मिलता है और रिपेयरिंग का काम भी होता है. नींद के ही दौरान शारीरिक विकास के लिए जिम्मेदार हार्मोन्स निकलते हैं  ।।
        The human body is amazing
* Strong lungs *
Our lungs filter 20 lakh liters of air every day. We do not even know about this. If the lungs are drawn, then it will cover a portion of the tennis court.
* No more such factory *
Our body makes 25 million new cells every second. Along with that, every year, more than 200 billion blood cells are produced. Every time there are 2500 billion blood cells in the body. There are 25 million cells in one drop blood.
* Millions of kilometers of travel *
Human blood travels 1,92,000 kilometers in the body every day. Our body has an average 5.6 liters of blood, which once rotates in the whole body every 20 seconds.
*beat beat*
The heart of a healthy person beats 100,000 times every day. It has been thrown more than 30 million times in a year. The pumping pressure of the heart is so fast that it can bounce the blood up to 30 feet.
* All cameras and binoculars fail *
The human eye can grasp a fine granular difference in one million colors. At present there is no such machine in the world which can compete with it.
* The air conditioner in the nose *
Our nose has a natural air conditioner. It warms the hot air to the lungs by heating cold and cold air.
* Speed ​​of 400 km per hour *
The nervous system transmits necessary instructions to the rest of the body at a speed of 400 kilometers per hour. There are more than 100 billion nerve cells in the human brain.
* Great mix *
There is 70 percent water in the body. Apart from this, there is a large amount of carbon, zinc, cobalt, calcium, magnesium, phosphate, nickel and silicon.
* Unique Zink *
Wind speed can be 166 to 300 kilometers per hour when fluttering. It is impossible to zoom in and open the eyes.
* Bacterial warehouse *
10 percent of human weight is due to the bacteria present in the body. There is 3.2 million bacteria in a square inch skin.
* Bizarre world of ENT *
Eyes grow completely in childhood only. There is no development in them later. On the other hand, the nose and ears develop throughout life. Cannes can recognize the difference in millions of voices. Ear ears listen to sound waves between 1,000 to 50,000 Hz.
* Tooth handle *
Human teeth are strong like rock. But the other parts of the body take care of themselves, while the teeth are not able to repair themselves when they become sick.
* Moisture in the mouth *
Every day 1.7 liters of saliva is made in human mouth. As the saliva digestes food, more than 10,000 tasting glands present in the tongue remain moist.
* Blinking eyelids *
Scientists think that the eyelids flutter out of sweat by eyes and maintain moisture in them. Women flutter twice in comparison to men.
* Nails too amazing *
Thumb nail grows at the slowest speed. At the same time, middle finger or middle finger nails grow fastest.
* Fast shave *
In men, shave hair grows fastest. If a person does not shave whole life, then the beard can be 30 feet long.
* Amber of food *
A person usually pays five years of life for food. We have consumed 7,000 times more food than our weight.
* Bothered by falling hair *
With a healthy man's head, 80 hair fall every day.
* Dream world *
Even before the man comes into the world i.e. the mother begins to dream only in the womb. The child develops rapidly in spring.
* Significance of sleep *
During sleep, the energy of the human being burns. The brain stores important information. The body gets relief and the work of repairing is also done. During sleep, hormones are responsible for physical growth.

पैसा बहुत कुछ है, लेकिन सब कुछ नही

No comments :
तीन बुरी खबरों ने देश को हिला दिया...?
{1} _12000 करोड़ की रेमण्ड कम्पनी का मालिक आज बेटे की बेरुखी के कारण किराये के घर में रह रहा है।_
{2} _अरबपति महिला मुम्बई के पॉश इलाके के अपने करोड़ो के फ्लैट में पूरी तरह गल कर कंकाल बन गयी! विदेश में बहुत बड़ी नौकरी करने वाले करोड़पति बेटे को पता ही नहीं माँ कब मर गयी।_
{3} _सपने सच कर आई. ए. एस. का पद पाये बक्सर के क्लेक्टर ने तनाव के कारण आत्महत्या की।_
ये तीन घटनायें बताती हैं जीवन में पद पैसा प्रतिष्ठा ये सब कुछ काम का नहीं। यदि आपके जीवन में खुशी संतुष्टी और अपने नहीं हैं तो कुछ भी मायने नहीं रखता।
वरना एक क्लेक्टर को क्या जरुरत थी जो उसे आत्महत्या करना पड़ा।
खुशियाँ पैसो से नहीं मिलती अपनों से मिलती है।_
पैसा बहुत कुछ है, लेकिन सब कुछ नही है।
जीवन आनन्द के लिए है, चाहे जो हों बस मुस्कुराते रहो...?_
_यदि आप चिंतित हो, तो खुद को थोड़ा आराम दों कुछ आइसक्रीम, चॉकलेट, केक लो_
ये अंग्रेजी वर्ण हमें सिखाते हैं :-
A B C....?
Avoid Boring Company​
_​मायूस संगत से दूरी​_
_D E F...?_
Dont Entertain Fools​
_​मूर्खो पर समय व्यर्थ मत करों_
_G H I...?_
Go For High Ideas​
_​ऊँचे विचार रखो​_
_J K L M...?_
Just Keep A Friend Like Me​
_​मेरे जैसा मित्र रखों_
_N O P...?_
Never Overlook The Poor n Suffering​
_​गरीब व पीड़ित को कभी अनदेखा मत करों_
_Q R S...?_
Quit Reacting To Silly Tales​_
_​मूर्खो को प्रतिक्रिया मत दो​_
_T U V...?_
Tune Urself For Ur Victory​
_​खुद की जीत सुनिश्चित करों_
_W X Y Z...?_
We Xpect You To Zoom Ahead In Life​
_​हम आपसे जीवन मे आगे देखने की आशा करते हैं_
यदि आपने चाँद को देखा, तो आपने ईश्वर की सुन्दरता देखी!
यदि आपने सूर्य को देखा, तो आपने ईश्वर का बल देखा!
और यदि आपने आईना देखा तो आपने ईश्वर की सबसे सुंदर रचना देखी!
इसलिए स्वयं पर विश्वास रखो.
जीवन में हमारा उद्देश्य होना चाहिए :-
​9, 8, 7, 6, 5, 4, 3, 2, 1, 0​
_9 - गिलास पानी_
_8 - घण्टे नींद_
_7 - यात्रायें परिवार के साथ_
_6 - अंकों की आय_
_5 - दिन हफ्ते में काम_
_4 - चक्का वाहन_
_3 - बेडरूम वाला फ्लैट_
_2 - अच्छे बच्चें_
_1 - जीवन साथी_
_0 - चिन्ता...?_
ये सिर्फ Message नहीं एक सीख है।
       Three bad news shook the country ...?
{1} _12000 crores owner of Raymond Company is living in a rental house due to son's absurdity.
{2} _Arbapati woman became a skeleton in the flat area of ​​Mumbai's posh flat of her crore! Millionaire son who has a very big job abroad does not know when mother died.
{3} _Spane come true s. The office of Buxar Collector, committed suicide due to stress.
These three incidents tell us that money is not worth the work in life. If there is happiness in your life and not your own then nothing matters.
Otherwise what was required of a clerk who had to commit suicide.
Happiness does not meet with money, and it does not meet with money.
Money is a lot, but not everything.
Life is for happiness, whichever ones are just smiling ...? _
_If you are worried, give yourself a little comfort, some ice cream, chocolate, cake lo_
These English letters teach us: -
 
A B C ....?
Avoid Boring Company
_ Desperate distance from _ _
_D E F ...? _
Dont Entertain Fools
_Don't waste time on idiots
_G H I ...? _
Go For High Ideas
_ Put a big idea _
_J K L M ...? _
Just Keep A Friend Like Me
_ Keep friends like me
_N O P ...? _
Never Overlook The Poor n Suffering
_Don't ever overlook the poor and the suffering
_Q R S ...? _
Quit Reacting To Silly Tales _
_ Do not respond to idiots _
_T UV ...? _
Tune Urself for Ur Victory
_ Make sure to win yourself
_W X Y Z ...? _
We Xpect You To Zoom Ahead In Life
_ We look forward to seeing you in life
If you looked at the moon, you saw the beauty of God!
If you saw the sun, you saw the power of God!
And if you saw the mirror then you saw the most beautiful creation of God!
So believe in yourself.
Our purpose in life should be: -
9, 8, 7, 6, 5, 4, 3, 2, 1, 0
_9 - glass water_
_8 - Hour sleeping
_7 - tours with family_
_6 - Number of digits_
_5 - work week in week_
_4 - Wheel Vehicle_
_3 - Bedroom Flat_
_2 - good children
_1 - life partner_
_0 - anxiety ...? _
This is not just a message but a message.

क्या नेताओं के वेतन भत्तो पर प्रतिबंध

No comments :
_______
*आँख फाड देने वाला सच, पढ कर आप भी आश्चर्य चकित रह जायेगे ?*
______
भारत में कुल 4120 MLA और 462 MLC हैं अर्थात कुल 4,582 विधायक।
______
प्रति विधायक वेतन भत्ता मिला कर प्रति माह 2 लाख का खर्च होता है। अर्थात
______
91 करोड़ 64 लाख रुपया प्रति माह। इस हिसाब से प्रति वर्ष लगभ 1100 करोड़ रूपये।
______
भारत में लोकसभा और राज्यसभा को मिलाकर कुल 776 सांसद हैं।
इन सांसदों को वेतन भत्ता मिला कर प्रति माह 5 लाख दिया जाता है।
______
अर्थात कुल सांसदों का वेतन प्रति माह 38 करोड़ 80 लाख है। और हर वर्ष इन सांसदों को 465 करोड़ 60 लाख रुपया वेतन भत्ता में दिया जाता है।
______
अर्थात भारत के विधायकों और सांसदों के पीछे भारत का प्रति वर्ष 15 अरब 65 करोड़ 60 लाख रूपये खर्च होता है।
______
ये तो सिर्फ इनके मूल वेतन भत्ते की बात हुई। इनके आवास, रहने, खाने, यात्रा भत्ता, इलाज, विदेशी सैर सपाटा आदि का का खर्च भी लगभग इतना ही है।
______
अर्थात लगभग 30 अरब रूपये खर्च होता है इन विधायकों और सांसदों पर।
______
अब गौर कीजिए इनके सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों के वेतन पर।
______
एक विधायक को दो बॉडीगार्ड और एक सेक्शन हाउस गार्ड यानी कम से कम 5 पुलिसकर्मी और यानी कुल 7 पुलिसकर्मी की सुरक्षा मिलती है।
_____
7 पुलिस का वेतन लगभग (25,000 रूपये प्रति माह की दर से) 1 लाख 75 हजार रूपये होता है।
______
इस हिसाब से 4582 विधायकों की सुरक्षा का सालाना खर्च 9 अरब 62 करोड़ 22 लाख प्रति वर्ष है।
______
इसी प्रकार सांसदों के सुरक्षा पर प्रति वर्ष 164 करोड़ रूपये खर्च होते हैं।
______
Z श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त नेता, मंत्रियों, मुख्यमंत्रियों, प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए लगभग 16000 जवान अलग से तैनात हैं।
______
जिन पर सालाना कुल खर्च लगभग 776 करोड़ रुपया बैठता है।
_____
इस प्रकार सत्ताधीन नेताओं की सुरक्षा पर हर वर्ष लगभग 20 अरब रूपये खर्च होते हैं।
●●●●
*अर्थात हर वर्ष नेताओं पर कम से कम 50 अरब रूपये खर्च होते हैं।*
●●●●
इन खर्चों में राज्यपाल, भूतपूर्व नेताओं के पेंशन, पार्टी के नेता, पार्टी अध्यक्ष , उनकी सुरक्षा आदि का खर्च शामिल नहीं है।
______
यदि उसे भी जोड़ा जाए तो कुल खर्च लगभग 100 अरब रुपया हो जायेगा।
______
अब सोचिये हम प्रति वर्ष नेताओं पर 100 अरब रूपये से भी अधिक खर्च करते हैं, बदले में गरीब लोगों को क्या मिलता है ?
*क्या यही है लोकतंत्र ?*
*(यह 100 अरब रुपया हम भारत वासियों से ही टैक्स के रूप में वसूला गया होता है।)*
_एक सर्जिकल स्ट्राइक यहाँ भी बनती है_
◆ भारत में दो कानून अवश्य बनना चाहिए
→पहला - चुनाव प्रचार पर प्रतिबंध
नेता केवल टेलीविजन ( टी वी) के माध्यम से प्रचार करें
→दूसरा - नेताओं के वेतन भत्तो पर प्रतिबंध
| तब दिखाओ देशभकित |
प्रत्येक भारतवासी को जागरूक होना ही पड़ेगा और इस फिजूल खर्ची के खिलाफ बोलना पड़ेगा ?
*इस मेसेज़ को जितना हो सके फेसबुक और व्हाट्सअप ग्रुप में फॉरवर्ड कर अपनी देश भक्ति का परिचय दें।*
सादर निवेदन
माननीय PM and CM जी,
कृपया सारी *योजना बंद कर दीजिये।*
सिर्फ
*सांसद भवन जैसी कैन्टीन हर दस किलोमीटर पर खुलवा दीजिये ।*
सारे लफड़े खत्म।
*29 रूपये में भरपेट खाना मिलेगा..*
80% लोगों को घर चलाने का लफड़ा खत्म।
*ना सिलेंडर लाना, ना राशन*
और
घर वाली भी खुश ।
*चारों तरफ खुशियाँ ही रहेगी।*
फिर हम कहेंगे सबका साथ सबका विकास ।
*सबसे बड़ा फायदा 1र् किलो गेहूँ नहीं देना पड़ेगा*
और
*PM जी को ये ना कहना पड़ेगा कि मिडिल क्लास के लोग अपने हिसाब से घर चलाएँ ।*
इस पे गौर करें
कृपया कड़ी मेहनत से प्राप्त हुई ये जानकारी देश के हर एक नागरिक तक पहुँचाने की कोशिश करे ।
शान है या छलावा...।
पूरे भारत में एक ही जगह ऐसी है जहाँ खाने की चीजें सबसे सस्ती है ।
चाय = 1.00
सुप = 5.50
दाल= 1.50
खाना =2.00
चपाती =1.00
चिकन= 24.50
डोसा = 4.00
बिरयानी=8.00
मच्छी= 13.00
ये *सब चीजें सिर्फ गरीबों के लिए है और ये सब Available है Indian Parliament Canteen में।*
और उन *गरीबों की पगार है 80,000 रूपये महीना वो भी बिना income tax के ।*
आपके Mobile में जितने भी नम्बर save है सबको forward करें ताकि सबको पता चले …
कि यही कारण है कि इन्हें लगता है कि जो *आदमी 30 या 32 रूपये रोज कमाता है वो गरीब नहीं हैं।*
      B_______
* You will be amazed by the fact that you are blindfolded? *
______
There are 4120 MLAs and 462 MLCs in India ie 4,582 MLAs in total.
______
Every MLA's wage is spent on two lakh rupees per month. To wit
______
91 crores 64 lacs per month. Accordingly, Rs.1100 crores per year
______
There are 776 MPs in the Lok Sabha and Rajya Sabha together in India.
These MPs are given salary allowance of Rs 5 lakh per month.
______
That means the salary of the total MPs is 38 million and 80 million per month. And every year these MPs are given salary allowance of 465 crores 60 lakhs.
______
That means behind India's legislators and MPs, India is spending 15 billion and 65 million rupees per year.
______
It's just a matter of their basic salary allowance. The cost of their accommodation, living, food, travel allowance, treatment, foreign tourism etc is also almost the same.
______
That is, about 30 billion rupees is spent on these MLAs and MPs.
______
Now, look at the salaries of security personnel posted in their security.
______
A legislator gets protection of two bodyguards and one section house guard i.e. at least 5 policemen and i.e. total 7 policemen.
_____
7 The salary of the police is approximately Rs. 1 lakh 75 thousand rupees (at the rate of Rs. 25,000 per month).
______
Accordingly, the annual expenditure on security of 4582 legislators is 9, 62, 22, 22 lakh per annum.
______
Similarly, Rs. 164 crores per year is spent on the safety of MPs.
______
About 16,000 soldiers are deployed separately for the security of Z category security, ministers, chief ministers, prime minister.
______
On which the total annual expenditure is about Rs 776 crores.
_____
Thus, about 20 billion rupees are spent every year on the security of the underprivileged leaders.
They
* That means, at least 50 billion rupees are spent on leaders every year. *
They
These expenses do not include the expenses of the Governor, the ex-leader's pension, party leader, party president, his security etc.
______
If it is added then the total expenditure will be around 100 billion rupees.
______
Now think we spend more than 100 billion rupees per year on leaders, what is the poor people in return?
* Is this the democracy? *
* (This is 100 billion rupees we have been charged as tax only by Indians). *
_ A surgical strike is also made here
◆ Two laws must be made in India
→ first - ban on election campaign
Leader only campaign through television (TV)
→ Second - ban on leaders' salary allowances
| Then show patriot.
Every Indian will have to be aware and will have to speak against this wasteful expenditure?
* Introduce this message to Facebook and WhatsApp as soon as possible and introduce your country of devotion. *
Submission request
Honorable PM and CM G,
Please close all plans *.
Only
* Open the canteens like Parliament House, every ten kilometers. *
All laughing finishes
* Fill up to 29 rupees food .. *
80% of people get rid of the scourge of running the house.
* No cylinders, no ration *
And
The house is also happy
* Happiness will remain all around. *
Then we will say everyone's development with everyone.
* The biggest advantage will not be to give 1 kg of wheat *
And
* PMG will not have to say that people of middle class run their homes accordingly. *
Look at this
Please try to get this information from hard to reach every citizen of the country.
Shaan or Chhalava ....
There is one place all over India, where food is the cheapest.
Tea = 1.00
Soup = 5.50
Lentils = 1.50
Food = 2.00
Chapati = 1.00
Chicken = 24.50
Dosa = 4.00
Biryani = 8.00
Mosquito = 13.00
These * all things are for the poor and all that is available in the Indian Parliament Canteen. *
And those poor people's salary is 80,000 rupees even without income tax. *
Please forward to all the numbers your mobile is saved so that everyone can know ...

That is the reason that they think that the person who earns 30 or 32 rupees a day is not poor. *

क्या भगवानपैसा बनाने की मशीन ?

No comments :
आज मंदिर में बहुत भीड़ थी, एक  *विदेशी लड़की दर्शन* के लिए लगी लम्बी लाइन को अचरज से देख रही थी, *तभी एक पंडित जी आये और बोले :~* बहुत लम्बी कतार है, ऎसे दर्शन नही हो पाएंगे, *501* रू. मे *VIP* पास ले लो, जल्दी दर्शन करवा दूंगा !
*विदेशी *लड़की बोली :~* मै 5100 दूंगी, भगवान से कहो बाहर आकर मिल लें !
*पंडित जी बोले :~* मजाक करती हो, भगवान भी कभी मंदिर से बाहर आते हैं क्या ?
*विदेशी लड़की फिर बोली :~* मै 51000 दूंगी, उनसे कहो, मुझ से मेरे घर पर आकर मिल लें !
*पंडितजी:~* (गुस्से मे) : तुमने भगवान को समझ क्या रखा रखा है !
I I
*विदेशी लड़की :~ वही तो मै भी पूछना चाहती हूं, आपने भगवान को समझ क्या रखा  है ?*
*पैसा बनाने की मशीन ???*
बात छोटी है अगर सहमत हो तो आगे बढ़ाए।
         There was a lot of crowd in the temple today, a foreign girl was looking for a long line of philosophy *, which was astonishingly observing, * Then a priest came and said: ~ * is a long line, it will not be visible, 501 * Rs. Take * VIP * near me, I will make a quick sight!
* Foreign girl girl: ~ * I will 5100, ask God to come out and get out!
* Panditji said: ~ * Jokes, do God ever come out of the temple?
* Foreign girl again quote: ~ * 51000 people, tell them, come to me at my house!
* Panditji: ~ * (Anger): You have understood what God has kept!
I I
* Foreign Girl: ~ I want to ask, what have you kept God to understand? *
* Money Making Machine ???
If the thing is small, agree then proceed.

Friday, April 20, 2018

भारत में भी इटली वाली अपना आखिरी और निर्णायक मैच(चुनाव)खेल रही हैं

No comments :
2019 के लोकसभा चुनाव के ... काबिलेगौर समीक्षा...
इटैलियन रणनीति और आज के काग्रेंसी राजनीति की :
....
आपको याद होगा सभी को जब 2006 में फीफा वर्ल्ड कप के फाइनल में फ्रांस और इटली आमने-सामने हुए थे।
  फ्रांस के लिए अपना आखिरी मैच खेल रहे "जिनेदिन जिदान" ने सातवें मिनट में गोल करके अपनी टीम को बढ़त दिला दी। 19वें मिनट में "मार्को मटेराजी" ने गोल करके इटली को 1-1 की बराबरी पर ला दिया। ये स्कोर 90 मिनट की समाप्ति तक जस का तस रहा। मैच जब एक्स्ट्रा टाइम में गया तो गोल करने के लिए दोनो टीमे जीतोड़ कोशिश मे लग गयी।
इटली की टीम समझ गई थी कि यदि नियमानुसार खेल चलता रहा तो वे ये मुकाबला कभी नहीं जीत पायेगें,
क्योकि सामने वाली टीम मे #जिनेदिन_जिदान जैसा अनुभवी खिलाड़ी है जो फ्रांस को 1998 के वर्ल्ड कप मे भी विजेता बना चुका था।
तब इटली की टीम ने अपनी रणनीति बदली और जिदान को टारगेट करने की योजना बनाई। निर्णायक गोल करने मे जुटे जिदान और मटेराजी के बीच अचानक कहासुनी हुई। इसके बाद मटेराजी ने जिदान की टीशर्ट खींची। थोड़ी देर बाद जिदान ने अपने सिर से हेडबट मारकर मटेराजी की छाती पर जोरदार प्रहार किया और मटेराजी नीचे गिर पड़े।
हेडबट करने की वजह से जिदान को रेड कार्ड दिखाया गया था। इसके साथ ही फ्रांस के इस महान खिलाड़ी के अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉल का सफर थम गया।
अतिरिक्त समय में भी मुकाबला बराबर रहने पर मैच का निर्णय करने के लिये पेनल्टी शूट आउट का सहारा लिया गया, जिसमे फ्रांस की टीम इटली से 3-5 से मुकाबला हार गयी।
जिदान ने इस बात की जानकारी कभी नहीं दी कि आखिर उस दिन मटेराजी ने उन्हें कहा क्या था। लेकिन मटेराजी ने कई बरसो बाद खुद ही बताया कि उन्होंने उस दिन जिदान की बहन के खिलाफ कमेंट किया था। मटेराजी ने बताया, ‘जब मैंने उनकी टीशर्ट खींची तो जिदान ने कहा अगर तुम्हे मेरी टीशर्ट चाहिए तो मैच के बाद मैं तुम्हे दे दूंगा।' लेकिन मैंने जिदान से कहा कि मैं इसके बजाय उस *वेश्या को पसंद करूंगा जो कि तुम्हारी बहन है।* मटेराजी के इस कमेंट के बाद जिदान ने अपने सिर से उनके सीने पर जोरदार प्रहार किया था। जिदान को मेच से बाहर कर दिया गया और आगे का सारा मुकाबला फ्रांस ने जिदान के बिना खेला। परिणाम यह निकला कि फ्रांस वर्ल्ड कप हार गया।
फ्रांस की हार ने दुनिया को बता दिया कि कई खेल मैदान के बाहर भी खेले जाते है और घाघ, शातिर, धूर्त खिलाड़ी जानते है कि मेच कैसे जीते जाते है। हर मेच केवल नियमानुसार खेलकर नही जीता जाता। इटली के घाघ खिलाड़ी इस मामले मे माहिर थे। फ्रांसीसी खिलाड़ी नादान थे वे केवल अपने खेल के दम पर मेच जीतना चाहते थे क्योकि वे #रूसो' जैसे सरल सुबोध विचारक की धरती से थे जबकि इटली के खिलाड़ी हर तरह का कुटिल खेल खेलने मे पारंगत थे क्योकि वे #मेकियावेली' की जन्मभूमि से आये थे जो जीत के लिये किसी नैतिकता के बंधन को नही मानते।
इटेलियन लोगो की रगो में सदियो बाद भी 'मेकियावेली' की कुटिलता दौड़ रही है और वे जीत के लिये हर संभव प्रयास करते है चाहे उसके लिये उन्हे कितना ही नियम विरुद्ध क्यो न खेलना पड़े और वो खेल चाहे मैदान के भीतर हो या मैदान के बाहर।
और भारत में भी इटली वाली अपना आखिरी और निर्णायक मैच(चुनाव)खेल रही हैं और वो इसे जितने के लिये सब कुछ करेंगी। जो उसके इटालियन खून में भरा पड़ा है।
अभी तो बहुत से अभूतपूर्व दंगे फसाद,हिंसा का तांडव और नकारात्मक राजनीति का दौर बाकी है मेरे दोस्तों।
      Regarding the 2019 Lok Sabha election ... Kabilegoor review ...
Italian strategy and today's college politics:

....
You will remember everyone when France and Italy were in front of the FIFA World Cup final in 2006.
  "Zinedine Zidane" playing his last match for France gave his team a lead in the seventh minute. In the 19th minute "Marco Materazzi" scored the goal to give Italy a 1-1 draw. These scores are up to 90 minutes. When the match went in extra time, the two teams were trying to win the goal.
The Italian team understood that if the game runs according to the rules, they will never win this match,
 Because there is an experienced player like #Jinidin Zidane in the front team, who had also made France a winner in the 1998 World Cup.
Then the Italian team changed their strategy and planned to target Zidane. Zidane and Mataraji got involved in making a decisive goal. After this, Materazzi pulled Zidane's T-shirt. After a while, Zidan hit his head with a headbat and hit Materazzi's chest and Materazzi fell down.
Due to headbutt, Zidane was shown as a red card. Along with this the great French player's international football stalled.
Penalty shootout was used to decide the match on equal footing in extra time, in which France's team lost the match to Italy 3-5.
Zidan never gave information about what Materazzi had told him on that day. But Materazzi himself said several days later that he had made a statement against Zidan's sister on that day. Materazzi said, "When I pulled his T-shirt, Zidan said that if you want my T-shirt then I will give it to you after the match." But I told Zidane that I would rather prefer that prostitute, which is your sister. * After this comment from Materazzi, Zidan struck his chest with his head severely. Zidane was ousted from the match and all the fight against France played without Zidane. The result was that France lost the World Cup.
France's defeat has told the world that many sports are played outside the field and consummate, vicious, sly players know how to win a match. Not every match can be won by playing only according to rules. The consummate players of Italy were special in this case. The French players were Nadan, they only wanted to win a match on their own game because they were from the simplest subhas thinker like # Rousseau, while Italy's players were capable to play all sorts of crooked games because they came from #Miciaveli's native place. Who did not accept the bond of any ethics for victory.
Even after centuries of Italian people, the machismo of 'Machiavelli' is running and they make every possible effort to win, no matter how much they have to play against them and whether the game is within the field or outside of the ground .
And in India, Barbali is playing his last and decisive match (elections) in Italy and he will do everything for it. Who is lying in his Italian blood.
There is still a lot of unprecedented riots, violent extremism and negative politics. My friends

देश के 90 प्रतिशत न्यूज चैनल विदेशो से पालित-पोषित है, और राष्ट्रघाती है

No comments :
देश के 90 प्रतिशत न्यूज चैनल विदेशो से पालित-पोषित है, और राष्ट्रघाती है
सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता सुब्रमन्यम स्वामी की अपील पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को नोटिस जारी किया था,
सुब्रमन्यम स्वामी ने कहा था कि भारत के मीडिया चैनल, अखबारों के मालिक भारतीय ही होने चाहिए!!
ज्ञात हो कि भारत के अधिकतर समाचार चैनलों, अखबारों के मालिक साउदी अरब, इटली, अमेरिका, ब्रिटेन, व दुबई में रहते है !!
जिसकी वजह से मीडिया को सिर्फ इशारों पर नचाया जाता है !!
यदि इस पर सुप्रीम कोर्ट सही फैसला दे देता है तो...ABP, AAJTAK, NDTV ये सब बंद हो जाएँगे !
जब से ये बात सुनी है मीडिया में हडकंप मच गया है... वो बैचेन है, पर अफ़सोस इस बात का है की इसे ब्रेकिंग न्यूज़ में नहीं दिखा सकते !
इस लिंक को क्लिक कीजिए और देखिए ताजा घटना जम्मू के कठुआ में आसिफा कांड की असलियत...⤵️ ‌
1. पिछले दिनों फेस बुक से पता चला की IBN-7 के राजदीप सरदेसाई ने जनपथ, दिल्ली में 50 करोड़ का बंगला खरीदा है। राज दीप सरदेसाई की उम्र 48 साल है और अगर 50 करोड़ का बंगला खरीदा है तो और कितनी संपत्ति होगी उसके पास,इसका अंदाजा ही लगाया जा सकता है। .
2. दीपक चौरसिया को एक व्यक्ति ने चैनल पर ही पूछ लिया कि 50,000 रुपये की पगार पे
काम करने वाला दीपक चौरसिया 500 करोड़ का मालिक कैसे
बन गया ?
तो दीपक चौरसिया सकपका गया, कोई जवाब नही दिया और बहस का मुद्दा ही बदल दिया। दीपक चौरसिया की उम्र केवल 45 वर्ष है, इतनी सी उम्र में पत्रकार की नौकरी कर कोई इतना पैसा जमा कर
सकता है क्या ...? .
3. 'श' को 'स' बोलने वाला राजीव
शुक्ला भी आपको याद होगा। कुछ अरसा ही बीता है जब ये ज़नाब नेताओं के interview लेने वाले एक free lancer पत्रकार थे।
परन्तु आज इन श्रीमान जी की पत्नी एक News Channel की मालिक हैं। जुगाड़ देखिये की साहब बिना कोई जनसेवा किये ही राज्यसभा सांसद हैं, काग्रेस शासन में केद्रीय मंत्री भी बन गए और BCCI के दबंग सदस्य हैं।
सिवाय पैसे और राजनीति जुगाड़बाज़ी के इनकी न कोई following है ओर न कोई काबिलियत। .
4. शाइज़ा इल्मी ने अपनी संपत्ति चुनाव आयोग के सामने 30 करोड़ घोषित की है।
इल्मी की उम्र केवल 43 वर्ष है और वो भी स्टार न्यूज़ में पत्रकार के रूप में काफी लम्बे अर्से तक
जुडी रही है ...ये तो चंद लोग हैं।
इनके अलावा अनेको पत्रकार हैं जो वेतनभोगी थे और आज थोड़े से समय मैं ही अरबों के मालिक हैं। ये बातें पुख्ता करती हैं कि सभी पत्रकारों की सम्पत्तियों की जांच होनी चाहिए ...I
पता चलना चाहिए कि आखिर ये
पत्रकारिता कैसा धंधा है जिसमे लोग छोटी सी उम्र में लोग इतने
अमीर बन जाते हैं ??
अपनी सोच पर मीडिया को हावी न होने दे मित्रों...
क्योंकि ये अपनी नाकारात्मक और सेलेक्टिव खबरो से आपको निरंतर भ्रमित कर ...अवसाद ग्रस्त कर रहे है...!
आज देश के 90 प्रतिशत न्यूज चैनल विदेशो से पालित-पोषित है, और राष्ट्रघाती है, यह तथ्य मैंने अपने अथक प्रयास से जाना है.
आपने भी गौर किया होगा कि लोकसभा चुनाव २०१९ के मुहाने पर...इस मीडिया की बाजीगरी...नाकारात्मक और हैरतअंगेज होती जा रही है।
जय हिन्द ☀

Blog Archive